US की कंपनी ने वीडियो कॉल पर मीटिंग बुलाई, एक झटके में 200 को नौकरी से निकाला

अमेरिका की बड़ी प्रॉपर्टी टेक कंपनी ने अपने सारे कर्मचारियों को काम से निकाल दिया है।
Firing Employees
Firing Employees Social Media

नई दिल्ली, ऱफ्तार डेस्क | अमेरिका की एक जानी मानी कंपनी ने वीडियो कॉल पर मीटिंग बुलाई और फिर अपने सारे कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया। कंपनी में कुल 200 लोग काम कर रहे थे।

टेक क्रंच की रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी का नाम फ्रंट डेस्क है। ये एक प्रॉपटेक स्टार्टअप है, माने ये कंपनी प्रॉपर्टी टेक्नोलॉजी कंपनी है, इसका काम टेक्नोलॉजी की मदद से लोगों को प्रॉपर्टी खरीदने-बेचने, किराए पर लेने-देने की सुविधा देना है।

कंपनी के CEO ने वीडियो कॉल पर अपने कर्मचारियों को जानकारी दी कि वो स्टेट रिसीवरशिप के लिए अप्लाई करने जा रहे हैं। स्टेट रिसीवरशिप असल में बैंकरप्सी का एक विकल्प है। सीईओ ने कहा कि ज्यादा लागत और किराए में उतार-चढ़ाव की वजह से कंपनी को भारी नुकसान उठाना पड़ा था।

साल 2017 में हुई थी कंपनी की शुरुआत

कंपनी की स्थापन साल 2017 में की गई थी। कंपनी ने पूरे अमेरिका में 1000 से ज्यादा फर्निश्ड अपार्टमेंट तैयार किए थे। इन अपार्टमेंट्स को कंपनी कम समय के लिए लोगों को किराए पर देती थी। कंपनी में अलग-अलग इनवेस्टर्स ने करीब 26 मिलियन डॉलर लगाए थे, इनमें जेटब्लू वेंचर्स, वेरिटाज़ इनवेस्टमेंट्स और सैंड हिल एंजल्स मुख्य इनवेस्टर्स हैं।

कंपनी फुल बिल्डिंग मैनेजमेंट में एंटर होने की योजना बना रही थी। कंपनी को उम्मीद थी इस काम के लिए उसे अच्छा इनवेस्टमेंट मिल जाएगा। हाल ही में कंपनी ने अलग-अलग पोज़िशंस के लिए भर्तियां भी निकाली थीं। हालांकि, दो महीने के अंदर ही कंपनी के हालात ऐसे हो गए कि सारे कर्मचारियों को नौकरी से निकालने का फैसला किया गया।

Related Stories

No stories found.