Business : Pan-Aadhar लिंक न करने वालों ने भरा 2125 करोड़ जुर्माना, एक कार्डधारक से सरकार ने लिए हैं इतने रुपए

Pan-Aadhar Link Fine: तय तारीख तक पैन और आधार कार्ड को लिंक नहीं करने वालों ने सरकार का खजाना भर दिया है। एक-एक कार्डधारक ने 1 हजार रुपए जुर्माना भरा, जिससे सरकारी कोष में 2125 करोड़ रुपए आए।
पैन-आधार लिंक के जुर्माने से सरकारी खजाना बढ़ा।
पैन-आधार लिंक के जुर्माने से सरकारी खजाना बढ़ा।रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। तय तारीख तक पैन और आधार कार्ड को लिंक नहीं करने वालों ने सरकार का खजाना भर दिया है। एक-एक कार्डधारक ने 1 हजार रुपए जुर्माना भरा, जिससे सरकारी कोष में 2125 करोड़ रुपए आए। दरअसल, 30 जून 2023 मुफ्त में पैन-आधार लिंक करने की तारीख थी। इसके बाद जिन्होंने पैन-आधार लिंक कराया है, उनसे सरकार ने जुर्माना वसूला है। सरकार ने संसद में जानकारी दी कि एक जुलाई 2023 के बाद 2.125 करोड़ पैन-आधार लिंक कराए गए हैं।

पैन कार्ड डीएक्टिवेट नहीं

संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान राज्य सभा सांसद फूलो देवी के सवाल का लिखित जवाब देकर वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने बताया है कि 30 जून तक 54,67,74,649 पैन कार्ड को आधार के साथ लिंक किया गया। कोई भी पैन कार्ड डीएक्टिवेट नहीं किया गया है। अगर, पैन को आधार से लिंक नहीं किया गया तो पैन इनऑपरेटिव हुआ है।

2.125 करोड़ लोगों ने भरा जुर्माना

वित्त राज्य मंत्री ने बताया है कि एक जुलाई 2023 से 30 नवंबर 2023 तक 2.125 करोड़ लोगों ने 1 हजार रुपए जुर्माना भरकर पैन-आधार लिंक किया है।

लिंक करने पर रिफंड नहीं

मंत्री ने बताया, पैन को आधार से लिंक नहीं करने पर पैन के इनऑपरेटिव होने पर टैक्सपेयर को कोई टैक्स रिफंड बकाए का भुगतान नहीं होता है। पैन के इनऑपरेटिव रहने की अवधि के लिए रिफंड पर ब्याज का भुगतान भी नहीं दिया जाता। अगर, टैक्सपेयर पर टैक्स बनता है तो उससे अधिक रेट पर टैक्स की वसूली होती है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.