आज खुला है इस नामी कंपनी का IPO, आज से ही कर सकते हैं इनवेस्ट

IPO Update: बीएलएस ई-सर्विसेज लिमिटेड ने आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (IPO) के लिए वैल्यू प्राइस 129-135 रुपए प्रति शेयर निर्धारित कर दिया है। 30 जनवरी से आईपीओ के लिए आवेदन शुरू होंगे।
आईपीओ।
आईपीओ। रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। बीएलएस ई-सर्विसेज लिमिटेड ने आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (IPO) के लिए वैल्यू प्राइस 129-135 रुपए प्रति शेयर निर्धारित कर दिया है। 30 जनवरी से आईपीओ के लिए आवेदन शुरू होंगे। कंपनी ने बताया है आवेदन एक फरवरी को बंद हो जाएगा। कंपनी इस आईपीओ के माध्यम से 2.3 करोड़ इक्विटी शेयरों की पेशकश कर रही है, जिसमें आईपीओ से पहले आवंटित होने वाले शेयर शामिल नहीं हैं। बड़े (एंकर) निवेशक 29 जनवरी को ही बोली लगा सकते हैं। कंपनी आईपीओ के माध्यम ये जुटाई गई राशि का उपयोग नई क्षमताओं को विकसित करने और अपने मौजूदा मंचों को मजबूत करने के लिए करेगी। इसके अतिरिक्त बीएलएस स्टोर स्थापित एवं अधिग्रहण का विस्तार करेगी।

ग्रे मार्केट में क्या रेट?

बीएलएस ई-सर्विसेज के आईपीओ का जीएमपी या ग्रे मार्केट प्रीमियम +142 रुपए है। जीएमपी बढ़ रहा है। यह बताता है कि बीएलएस ई-सर्विसेज का शेयर मूल्य ग्रे मार्केट में 142 रुपए के प्रीमियम पर ट्रेड कर रहा था। आईपीओ मूल्य बैंड के ऊपरी छोर और ग्रे मार्केट में मौजूदा प्रीमियम को ध्यान में रखकर बीएलएस ई-सर्विसेज शेयर मूल्य की अनुमानित लिस्टिंग कीमत 277 रुपए प्रति शेयर हो सकती है, जो आईपीओ कीमत 135 रुपए से 105.19% अधिक है। ग्रे मार्केट एक्टिविटी के पिछले चार सत्रों के आधार पर आज आईपीओ जीएमपी ऊपर की ओर इशारा कर रहा है। एक मजबूत लिस्टिंग की उम्मीद कर रहा है। न्यूनतम GMP 60 रुपए है। उच्चतम GMP 142 रुपए है। मंगलवार को जीएमपी 60 रुपए थी। बुधवार के सत्र में बढ़कर 110 रुपए हो गई। ग्रे मार्केट प्रीमियम निवेशकों की निर्गम मूल्य से अधिक भुगतान करने की तैयारी को दर्शाता है।

आईपीओ की डीटेल

बीएलएस ई-सर्विसेज आईपीओ का रजिस्ट्रार केफिन टेक्नोलॉजीज लिमिटेड है। जबकि, बुक रनिंग लीड मैनेजर यूनिस्टोन कैपिटल प्राइवेट लिमिटेड है। आईपीओ में 75% शेयर योग्य संस्थागत खरीदारों (क्यूआईबी) के लिए, 15% गैर-संस्थागत निवेशकों (एनआईआई) के लिए अलग रखे हैं। शेष 10% ऑफर खुदरा निवेशकों के लिए रिजर्व है। बीएलएस इंटरनेशनल शेयरधारकों के आरक्षण हिस्से पर प्रति इक्विटी शेयर 7 रुपए की छूट की पेशकश की जा रही है। कंपनी में बीएलएस इंटरनेशनल की 93% से अधिक हिस्सेदारी है। इश्यू से हुई आय का जैविक विकास को बढ़ावा देने के साधन के रूप में बीएलएस स्टोर्स की स्थापना, अकार्बनिक विकास और सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों को पाने के लिए व्यवसायों के अधिग्रहण और नई क्षमताओं को विकसित करने एवं मौजूदा प्लेटफार्मों को मजबूत करने के लिए प्रौद्योगिकी बुनियादी ढांचे को मजबूत बनाने को किया जाएगा।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करेंwww.raftaar.in

Related Stories

No stories found.