गिरावट के साथ बंद हुआ शेयर बाजार, निवेशकों को लगी 13 हजार करोड़ की चपत

घरेलू शेयर बाजार ने आज के कारोबार की शुरुआत बिकवाली के दबाव के साथ की थी। दिन के कारोबार में लगातार ये दबाव बना रहा।
गिरावट के साथ बंद हुआ शेयर बाजार, निवेशकों को लगी 13 हजार करोड़ की चपत

नई दिल्ली, एजेंसी। कमजोर ग्लोबल संकेतों और एक बार फिर ब्याज दरों में बढ़ोतरी होने की आशंका के बीच घरेलू शेयर बाजार कारोबारी सप्ताह के पहले दिन ही गिरावट के साथ बंद हुए। सेंसेक्स और निफ्टी दोनों सूचकांकों ने 0.5 प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट के साथ आज के कारोबार का अंत किया।

शेयर बाजार गिरावट के साथ ही हुआ बंद

घरेलू शेयर बाजार ने आज के कारोबार की शुरुआत बिकवाली के दबाव के साथ की थी। दिन के कारोबार में लगातार ये दबाव बना रहा। हालांकि खरीदारों ने बीच में कई बार बिकवाली करके बाजार को सपोर्ट करने की कोशिश भी की। इसके बावजूद शेयर बाजार गिरावट के साथ ही बंद हुआ।

बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 0.75 प्रतिशत की बढ़त के साथ बंद हुआ

सोमवार के कारोबार में एनर्जी, मेटल और आईटी सेक्टर के शेयरों में जोरदार बिकवाली होती रही। इसी तरह ऑटोमोबाइल और फार्मास्यूटिकल सेक्टर पर भी दबाव बना रहा। दूसरी ओर पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइज, रियल्टी और पब्लिक सेक्टर बैंक के शेयरों में मामूली बढ़त का रुख बना रहा। सेक्टोरल फ्रंट पर मेटल और पावर इंडेक्स 1 प्रतिशत से अधिक की गिरावट के साथ बंद हुए। एफएमसीजी, कैपिटल गुड्स और रियल्टी इंडेक्स में 0.5 प्रतिशत तक की बढ़त दर्ज की गई। इसी तरह बीएसई का मिडकैप इंडेक्स आज 0.75 प्रतिशत और स्मॉलकैप इंडेक्स 0.49 प्रतिशत की बढ़त के साथ बंद हुआ।

शेयर बाजार के निवेशकों को करीब 13 हजार करोड़ रुपये की चपत लग गई

सोमवार के कारोबार में आई तेजी के कारण दिनभर के कारोबार के दौरान शेयर बाजार के निवेशकों को करीब 13 हजार करोड़ रुपये की चपत लग गई। स्टॉक एक्सचेंज से मिले आंकड़ों के मुताबिक बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का कुल बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैपिटलाइजेशन) आज के कारोबार के बाद घट कर 266.59 लाख करोड़ रुपये (अस्थाई) के स्तर पर पहुंच गया। पिछले कारोबारी दिन यानी शुक्रवार का कारोबार खत्म होने के बाद इन कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन 266.72 लाख करोड़ रुपये था। इस तरह बीएसई में लिस्टेड कंपनियों के मार्केट कैप में आज करीब 13 हजार करोड़ रुपये की कमी आ गई।

एनएसई में आज 2,040 शेयरों में एक्टिव ट्रेडिंग हुई

बीएसई में 3,791 शेयरों में एक्टिव ट्रेडिंग हुई। इनमें से 1,900 शेयर आज बढ़त के साथ बंद हुए। वहीं 1,697 शेयरों में गिरावट का रुख बना रहा, जबकि 194 शेयर बिना किसी उतार-चढ़ाव के सपाट स्तर पर बंद हुए। दूसरी ओर एनएसई में आज 2,040 शेयरों में एक्टिव ट्रेडिंग हुई। इनमें से 1,073 शेयर मुनाफा कमाकर हरे निशान में बंद हुए, जबकि 967 शेयर नुकसान उठाकर उठाकर लाल निशान में बंद हुए।

निफ्टी में शामिल 32 शेयर लाल निशान में बंद हुए

सेंसेक्स में शामिल 30 शेयरों में से 9 शेयर लिवाली के सपोर्ट से हरे निशान में और 21 शेयर बिकवाली के दबाव के कारण लाल निशान में बंद हुए। निफ्टी में शामिल 50 शेयरों में से 18 शेयर हरे निशान में और 32 शेयर लाल निशान में बंद हुए।

पहले 20 मिनट में सेंसेक्स 400 अंक से ज्यादा गिरकर 60,438.14 अंक तक पहुंच गया

वैश्विक स्तर पर बिकवाली के दबाव की वजह से बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के सेंसेक्स ने भी आज सपाट स्तर पर कारोबार की शुरुआत की। ये सूचकांक 5.33 अंक की मामूली बढ़त के साथ 60,847.21 अंक के स्तर पर खुला। कारोबार की शुरुआत होते ही बाजार में बिकवाली का दबाव बन गया, जिसकी वजह से पहले 20 मिनट के कारोबार में ही सेंसेक्स 400 अंक से ज्यादा गिरकर 60,438.14 अंक तक पहुंच गया।

सोमवार के सबसे निचले स्तर 60,345.61 अंक तक पहुंच गया

इस गिरावट के बाद खरीदारों ने बाजार में लिवाली का जोर बनाने की कोशिश भी की, जिससे इसकी स्थिति में कुछ देर के लिए मामूली सुधार भी हुआ। थोड़ी देर बाद ही बिकवाली का दबाव दोबारा बढ़ जाने की वजह से दोपहर 11 बजे के करीब सेंसेक्स 496.27 अंक की गिरावट के साथ आज के सबसे निचले स्तर 60,345.61 अंक तक पहुंच गया।

सेंसेक्स 334.98 अंक की कमजोरी के साथ 60,506.90 अंक के स्तर पर बंद हुआ

खरीदारों ने कई बार लिवाली करके बाजार को संभालने की कोशिश की लेकिन उनकी ये कोशिश सफल नहीं हो सकी। पूरे दिन लिवालों और बिकवालों के बीच खींचतान चलती रही। हालांकि दोपहर 2 बजे के करीब खरीदारों ने अपना जोर बढ़ा दिया, जिसकी वजह से सेंसेक्स निचले स्तर से 161.29 अंक की रिकवरी करके 334.98 अंक की कमजोरी के साथ 60,506.90 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

शुरुआती कारोबार में निफ्टी में भी जोरदार गिरावट आई

सेंसेक्स की तरह ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के निफ्टी पर भी आज शुरुआती कारोबार से ही दबाव बना हुआ नजर आया। ये सूचकांक 35.50 अंक टूटकर 17,818.55 अंक के स्तर पर खुला। बिकवाली के दबाव की वजह से शुरुआती कारोबार में निफ्टी में भी जोरदार गिरावट आई। पहले 20 मिनट के कारोबार में ही ये सूचकांक 140 अंक से ज्यादा गिरकर 17,712.75 अंक तक पहुंच गया।

शुरू हुई खरीदारी से निफ्टी को भी कुछ सहारा मिलता नजर आया

इस गिरावट के बाद बाजार में शुरू हुई खरीदारी से निफ्टी को भी कुछ सहारा मिलता नजर आया लेकिन बिकवाली के दबाव की वजह से ये सूचकांक ज्यादा रिकवरी करने में सफल नहीं हो सका। थोड़ी देर बाद इस सूचकांक में दोबारा गिरावट आ गई, जिसके कारण 11 बजे के करीब निफ्टी 155.70 अंक की कमजोरी के साथ 17,698.35 अंक तक लुढ़क गया।

निफ्टी50 लगातार लाल निशान में ही कारोबार करता रहा

दोपहर 11 बजे के बाद पूरे दिन शेयर बाजार में लगातार उतार-चढ़ाव की स्थिति बनी रही। हालांकि बिकवाली का दबाव ज्यादा होने की वजह से निफ्टी लगातार लाल निशान में ही कारोबार करता रहा। दिन भर हुई लिवाली और बिकवाली के बाद इस सूचकांक ने 89.45 अंक की कमजोरी के साथ 17,764.60 अंक के स्तर पर आज के कारोबार का अंत किया।

ब्याज दरों को बढ़ने की आशंका के कारण घरेलू बाजार में तनाव का माहौल रहा

रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति द्वारा एक बार फिर ब्याज दरों को बढ़ाने की आशंका के कारण घरेलू बाजार में आज घबराहट का माहौल बना रहा। इसकी वजह से शेयर बाजार पूरे दिन दबाव में कारोबार करता रहा। 8 तारीख को मौद्रिक नीति समिति द्वारा ब्याज दरों को लेकर किए जाने वाले ऐलान को लेकर शेयर बाजार के निवेशक आशंकित हैं। इसीलिए आज पूरे दिन बाजार में निराशा का माहौल बना रहा।

अडाणी पोर्ट्स 9.34 प्रतिशत, इंडसइंड बैंक 2.32 प्रतिशत गेनर्स की सूची में शामिल हुए

खरीद बिक्री के बाद स्टॉक मार्केट के दिग्गज शेयरों में से अडाणी पोर्ट्स 9.34 प्रतिशत, इंडसइंड बैंक 2.32 प्रतिशत, बीपीसीएल 2.16 प्रतिशत, अपोलो हॉस्पिटल्स 1.63 प्रतिशत और हीरो मोटोकॉर्प 1.54 प्रतिशत की मजबूती के साथ आज के टॉप 5 गेनर्स की सूची में शामिल हुए। दूसरी ओर डिवीज लेबोरेट्रीज 3.69 प्रतिशत, जेएसडब्ल्यू स्टील 2.84 प्रतिशत, हिंडाल्को इंडस्ट्रीज 2.68 प्रतिशत, टाटा स्टील 2.41 प्रतिशत और कोटक महिंद्रा 1.87 प्रतिशत की कमजोरी के साथ आज के टॉप 5 लूजर्स की सूची में शामिल हुए।

Related Stories

No stories found.