RBI ने दिया बड़ा झटका, महंगाई पर ले लिया यह अहम फैसला

RBI Rate Cut: रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने ब्याज दरें सस्ती होने की उम्मीदों को झटका दिया है। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि ब्याज दरों में कटौती का कोई इरादा नहीं है।
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया।
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया। @RBI एक्स सोशल मीडिया।

नई दिल्ली, रफ्तार। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने ब्याज दरें सस्ती होने की उम्मीदों को झटका दिया है। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि ब्याज दरों में कटौती का कोई इरादा नहीं है। उन्होंने कहा कि आरबीआई का पूरा फोकस महंगाई दर को कंट्रोल कर 4 प्रतिशत पर लाना है। शक्तिकांत ने कहा कि अभी ब्याज दरों में कटौती हमारे लक्ष्य में नहीं है। इस पर अभी कोई चर्चा नहीं की जाएगी। हमारा पूरा ध्यान बढ़ती महंगाई पर काबू पाकर उसे 4 प्रतिशत के लेवल पर लाना है, जब तक हम 4 प्रतिशत महंगाई दर के लक्ष्य को नहीं पा लेते, तब तक ब्याज दरों में कटौती का सवाल नहीं पैदा होता।

महंगाई दर को 4 प्रतिशत तक लाना ही हमारा लक्ष्य

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत ने कहा कि रूस और यूक्रेन की जंग शुरू होने के ठीक बाद अप्रैल 2022 में खुदरा महंगाई दर 7.8 प्रतिशत पहुंच गई थी। अब यह काफी हद तक कंट्रोल में है। मगर, हमारा लक्ष्य इसे 4 प्रतिशत पर लाना है। साल 2023 के दिसंबर के लिए खुदरा महंगाई दर का जो आंकड़ा घोषित हुआ, उसके मुताबिक दिसंबर 2023 में महंगाई दर 5.69 फीसदी पहुंची है। यह आंकड़ा नवंबर में 5.55 प्रतिशत पर था।

आखिर महंगाई क्यों बढ़ी?

खाद्य सामग्री जैसे दाल, अनाज और सब्जियों के भाव में इजाफा के कारण खुदरा महंगाई दर में वृद्धि हुई है। दिसंबर 2023 में खाद्य महंगाई दर 9.53 प्रतिशत थी, जो नवंबर 2023 में 8.70 प्रतिशत पर थी। सब्जियों की महंगाई दर में भारी बढ़ोतरी हुई और यह बढ़कर 27.64 प्रतिशत पर पहुंची है। नवंबर 2023 में यह 17.70 ही प्रतिशत थी।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.