Petrol Diesel Price : चुनाव से पहले पेट्रोल-डीजल 2 रुपए सस्ता, कई देशों की तुलना में दाम कम

Petrol Diesel Price Less : लोकसभा चुनाव से ठीक पहले सरकार ने देशभर में पेट्रेल और डीजल के दाम 2 रुपए कम कर दिए हैं। नई दरें आज सुबह से लागू हो गई हैं।
पेट्रोल-डीजल के दाम।
पेट्रोल-डीजल के दाम।रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले सरकार ने देशभर में पेट्रोल और डीजल के दाम 2 रुपए कम कर दिए हैं। नई दरें आज सुबह से लागू हो गई हैं। केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर दी है। हरिदीप पुरी ने लिखा- पेट्रोल और डीजल के दाम 2 रुपए कम कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिर साबित किया कि करोड़ों भारतीयों के अपने परिवार का हित और सुविधा सदैव उनका लक्ष्य है।

ढाई बर्षों में 4.65 प्रतिशत कम हुए दाम

हरिदीप पुरी ने आगे लिखा-विश्व मुश्किल दौर से गुजर रहा था, तब विकसित और विकासशील देशों में पेट्रोल के दामों में 50-72 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हुई थी। हमारे आसपास के कई देशों में तो पेट्रोल मिलना बंद हो गया था। उसके बाद भी 1973 के बाद आए 50 साल के सबसे बड़े तेल संकट के बावजूद पीएम के दूरदर्शी और सहज नेतृत्व के कारण भारत में पेट्रोल के दाम बढ़ने के बजाय ढाई बर्षों में 4.65 प्रतिशत कम हुए।

भारत में नहीं बढ़े पेट्रोल-डीजल के भाव

हरदीप पुरी ने बताया कि भारत इकलौत देश था, जहां पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने की जगह कम हुए। हमने जहां से हुआ अपने देशवासियों के लिए तेल खरीदा। पीएम के प्रधानमंत्री बनने के पहले हम 27 देशों से कच्चा तेल खरीदते थे, लेकिन उनके नेतृत्व में अपने देशवासियों को सस्ता पेट्रोल, डीज़ल और गैस पहुंचाने के लिए इस दायरे को बढ़ाया। अब 39 देशों से कच्चा तेल खरीदते हैं।

इन देशों की तुलना में भारत में पेट्रोल के दाम

14 मार्च 2024 को रुपये के आधार पर भारत में पेट्रोल औसतन 94 रुपए प्रति लीटर है। इटली में 168.01 रुपए यानी 79% अधिक, फ्रांस में 166.87 रुपए यानी 78% अधिक, जर्मनी में 159.57 रुपए यानी 70% अधिक, स्पेन में 145.13 रुपए यानी 54% अधिक है। डीजल के दाम भारत में औसत 87 रुपए प्रति लीटर है। इटली में 163.21 रुपए यानी 88% अधिक, फ्रांस में 161.57 रुपए यानी 86% अधिक, जर्मनी में 155.68 रुपए यानी 79% अधिक और स्पेन में 138.07 रुपए यानी 59% अधिक।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.