Paytm CEO विजय शेखर शर्मा ने छोड़ा पेमेंट्स बैंक बोर्ड, नए बोर्ड में इन प्रमुख लोगों को मिली जिम्मेदारी

Vijay Shekhar Sharma: पेटीएम पेमेंट बैंक के को-फाउंडर विजय शेखर शर्मा ने नॉन-एग्जीक्यूटिव चेयरमैन का पद छोड़ दिया है।
विजय शेखर शर्मा।
विजय शेखर शर्मा। रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। पेटीएम पेमेंट बैंक के को-फाउंडर विजय शेखर शर्मा ने नॉन-एग्जीक्यूटिव चेयरमैन का पद छोड़ दिया है। वन97 कम्यूनिकेशन लिमिटेड ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक के बोर्ड से अपनी नॉमिनी को वापस लेने का निर्णय लिया था। उसके बाद विजय शेखर शर्मा बोर्ड के सदस्य पद से इस्तीफा दिया है। पेटीएम पेंमेंट्स बैंक लिमिटेड का फ्यूचर बिजनेस अब पुनर्गठित बोर्ड के माध्यम से संचालित किया जाएगा।

नए सिरे से बोर्ड के पुनर्गठन का फैसला

स्टॉक एक्सचेंज के पास रेग्यूलेटरी फाइलिंग में पेटीएम की पैरेंट कंपनी वन97 कम्यूनिकेशंस लिमिटेड के मुताबिक पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने नए सिरे से बोर्ड के पुनर्गठन का निर्णय लिया है। सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन श्रीनिवासन श्रीधर, रिटॉयर्ड आईएएस देबेंद्रनाथ सारंगी, बैंक ऑफ बड़ौदा के पूर्व एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर अशोक कुमार गर्ग, रिटायर्ड आईएसएस रजनी सेखरी सिब्बल बोर्ड में शामिल किए गए हैं।

नए चेयरमैन की होगी नियुक्ति

वन97 कम्यूनिकेशंस लिमिटेड ने रेग्यूलेटरी फाइलिंग में बताया कि उसके एसोसिएट पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने नए सिरे से बोर्ड ऑफ डायरेक्टरों की नियुक्ति कर दी है। ये लोग हाल में इंडीपेंडेंट डायरेक्टर के तौर पर कंपनी से जुड़े थे। वन97 कम्यूनिकेशंस ने कहा कि वो पेटीएम पेंमेंट्स बैंक के केवल इंडीपेंडेंट एवं एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर वाले बोर्ड का समर्थन करता है। उसने अपनी नॉमिनी को हटाने का फैसला किया है। विजय शेखर शर्मा ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक के बोर्ड से भी इस्तीफा दिया है। पेटीएम पेमेंट्स बैंक नए चेयरमैन की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू करेगा।

RBI की कार्रवाई से बढ़ीं मुश्किलें

पेटीएम पेमेंट्स बैंक और विजय शेखर शर्मा की मुश्किलें 31 जनवरी 2024 से बढ़ीं। आरबीआई ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर कार्रवाई की थी और नए ग्राहकों के जोड़ने पर रोक लगाया था। आरोप है कि कंपनी बैंकिंग रेग्यूलेशन को नहीं मान रही थी। बार-बार चेतावनी के बावजूद अनुपालन का अभाव था। पहले आरबीआई ने कहा कि 29 फरवरी, 2024 के बाद कोई ग्राहक पेटीएम वॉलेट में न तो पैसा जमा कर सकेगा और न क्रेडिट ट्रांजेक्शन कर सकेगा, न पेटीएम वॉलेट में टॉप-अप कर सकेगा। फिर बाद में इस मियाद को 15 मार्च 2024 तक बढ़ाया गया। ग्राहकों के वॉलेट में जो बैलेंस बचा है, उसे वह खत्म होने तक इस्तेमाल कर सकता है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.