Onion Rate High: प्याज और भी रुलाएगा, थोक मंडी में बढ़ी 40 प्रतिशत कीमत, वजह भी जानें

Onion Rate Increase: आम लोगों पर त्योहारी एवं शादी सीजन में महंगाई की मार पड़ गई है। प्याज की कीमतों में इजाफा हुआ है।
प्याज की बढ़ीं कीमतें।
प्याज की बढ़ीं कीमतें।रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। आम लोगों पर त्योहारी एवं शादी सीजन में महंगाई की मार पड़ गई है। प्याज की कीमतों में इजाफा हुआ है। सबसे बड़ी प्याज मंडियों में एक महाराष्ट्र की लासलगांव मंडी में प्याज की थोक कीमतों में 40 प्रतिशत तक वृद्धि दिखी है। ऐसे समय पर भाव में उछाल आया है, जब केंद्र सरकार द्वारा प्याज के निर्यात से रोक हटाने का ऐलान हुआ है।

अमित शाह के नेतृत्व में हुई बैठक बाद निर्णय

केंद्रीय राज्य मंत्री भारती पवार ने बताया था कि सरकार ने प्याज के निर्यात पर रोक हटाने का निर्णय लिया है। यह भी कहा था, सरकार जल्द नोटिफिकेशन निकालेगी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के नेतृत्व में मंत्रियों के साथ बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया।

थोक में प्याज का भाव क्या?

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक सरकार के इस निर्णय का पूरे थोक प्याज बाजार पर सकारात्मक असर दिख रहा है। प्याज की औसत कीमत लासलगांव मंडी में 1800 रुपए क्विंटल तक पहुंच चुकी है, जो शनिवार को 1,280 रुपए प्रति क्विंटल थी। यह भी बताया गया कि दिन के कारोबार में प्याज की अधिकतम कीमत 2,100 रुपए प्रति क्विंटल और न्यूनतम कीमत 1,000 रुपए प्रति क्विंटल है। दिन के कारोबार में 10 हजार क्विंटल प्याज का सौदा हुआ।

सरकार ने निर्यात पर क्यों लगाया बैन?

खुदरा बाजार में लगातार महंगी हो रहे प्याज के कारण सरकार ने दिसंबर 2023 में प्याज के निर्यात पर बैन लगाया था। इसके बाद थोक मंडियों में कीमत 3900 रुपए प्रति क्विंटल से 67 प्रतिशत कम होकर 1280 रुपए प्रति क्विंटल पर आ गई। किसानों का कहना है 1800 रुपए प्रति क्विंटल पर ही उनकी लागत निकलती है। निर्यात पर प्रतिबंद्ध होने से दो-तीन महीने में उन्हें काफी नुकसान हुआ है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.