Paytm पर कार्रवाई से Mukesh Ambani की जबरदस्त कमाई

Paytm and Jio: रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) द्वारा पेटीएम (Paytm) पर की गई कार्रवाई से कंपनी को खासा नुकसान हुआ है। पिछले तीन दिनों में कंपनी का शेयर 42 प्रतिशत गिरा है।
मुकेश अंबानी।
मुकेश अंबानी। सोशल मीडिया।

नई दिल्ली, रफ्तार। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) द्वारा पेटीएम (Paytm) पर की गई कार्रवाई से कंपनी को खासा नुकसान हुआ है। पिछले तीन दिनों में कंपनी का शेयर 42 प्रतिशत गिरा है। वहीं, मुकेश अंबानी की जियो फाइनेंशियल के शेयरों में जबरदस्त तेजी आई है। अंबानी की इस कंपनी का शेयर 14 प्रतिशत से अधिक चढ़ा है। यह रिकॉर्ड लेवल पर पहुंच चुका है। दूसरी ओर सूचना है कि फिनटेक कंपनी देश के सबसे बड़े प्राइवेट लेंडर एचडीएफसी बैंक से संपर्क में है। रिपोर्ट के मुताबिक वन 97 कम्युनिकेशंस अपनी वॉलेट बिजनेस को बेचने के लिए अंबानी की एनबीएफसी और प्राइवेट लेंडर एचडीएफसी बैंक से बात कर रही है।

एचडीएफसी बैंक और जियो खरीद सकता है पेटीएम पेमेंट्स बैंक

फिनटेक और बैंकिंग सेक्टर के सीनियर ​अधिकारियों का हवाला देते हुए द हिंदू बिजनेस लाइन का कहना है कि एचडीएफसी बैंक और जियो फाइनेंशियल को पेटीएम के वॉलेट बिजनेस को खरीदने के लिए सबसे आगे हैं। यह पेटीएम पेमेंट्स बैंक के अधीन आता है। बताया जा रहा कि विजय शेखर शर्मा की टीम पिछले नवंबर से जियो फाइनेंशियल से बातहो रही थी। रिपोर्ट के मुताबिक आरबीआई के पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर प्रतिबंध से ठीक पहले एचडीएफसी बैंक से बात शुरू हुई थी। रिपोर्ट में बताया गया था कि एक बड़ी बेलआउट योजना के हिस्से के रूप में जियो पेटीएम पेमेंट्स बैंक का अधिग्रहण की पेशकश कर सकता है।

जियो फाइनेंशियल के शेयरों में 14% की तेजी

बीएसई के आंकड़े बताते हैं कि जियो फाइनेंशियल के शेयर रॉकेट बने हैं। कंपनी का शेयर दोपहर 1 बजे 12 प्रतिशत की बढ़त के साथ 283.25 रुपए पर कारोबार कर रहा। कारोबारी सत्र के दौरान कंपनी का शेयर 14 प्रतिशत जी के साथ रिकॉर्ड लेवल पर पहुंचा। कंपनी का शेयर 289.70 रुपए के साथ 52 हफ्तों के हाई पर है। हालांकि, आज कंपनी का शेयर फ्लैट लेवल 256 रुपए पर खुला था। शुक्रवार को कंपनी का शेयर 253.75 रुपए पर बंद हो गया था। इस समय कंपनी का मार्केट कैप 1.83 लाख करोड़ रुपए के पार है।

पेटीएम का संकट

आरबीआई ने पेमेंट बैंक को कस्टमर्स अकाउंट्स में डिपॉजिट या क्रेडिट करने से रोक लगाई है। इसके बाद पेटीएम पर अस्तित्व का संकट गहराया है। बताया जा रहा कि रेगुलेटर पेटीएम पर संभावित मनी लॉन्ड्रिंग और नो-योर-कस्टमर (केवाईसी) उल्लंघनों पर बैंकिंग लाइसेंस रद्द करने पर विचार कर रहा। सुरक्षा एजेंसियां ​​इस पर विचार कर रहीं कि इस यूनिट का यूज मनी लॉड्रिंग के रूप में किया जा सकता है। उधर,पेटीएम ने उन रिपोर्टों का खंडन किया कि मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में ईडी द्वारा न तो कंपनी और न इसके फाउंडर, सीईओ की जांच कर रही है।

जियो फाइनेंशियल का गेम प्लान?

जियो पेमेंट्स बैंक का मालिक जियो फाइनेंशियल है। इसने 2400 बिजनेस कॉरेस्पॉन्डेंट्स के ग्राउंड नेटवर्क के साथ डिजिटल सेविंग अकाउंट्स और बिल पेमेंट लांच करने के लिए फिर से प्लेटफॉर्म बनाया है। इसने डेबिट कार्ड भी लांच कर दिया है। पेमेंट सॉल्यूशंस बिजनेस में Jio ने Jio Voice बॉक्स लांच किया है। Jio फोन को UPI के साथ सक्षम किया है और पूरे इकोसिस्टम में क्यूआर कोड लागू कर रहा। जियो फाइनेंशियल की सहायक कंपनियों में जियो फाइनेंस, जियो इंश्योरेंस ब्रोकिंग, जियो पेमेंट्स बैंक, जियो पेमेंट्स सॉल्यूशंस आदि हैं।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.