Apple को पछाड़ कर दुनिया की सबसे महंगी कंपनी बनी Microsoft, इस एक कदम ने माइक्रोसॉफ्ट को बनाया बादशाह

Apple vs Microsoft: अब दुनिया की सबसे महंगी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट बन गई है। इसने कीमत के मामले में एप्पल को पीछे छोड़ा है।
माइक्रोसॉफ्ट।
माइक्रोसॉफ्ट। @Microsoft एक्स सोशल मीडिया।

नई दिल्ली, रफ्तार। अब दुनिया की सबसे महंगी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट बन गई है। इसने कीमत के मामले में एप्पल को पीछे छोड़ा है। एप्पल की बढ़ती मांग को लेकर चिंताओं के कारण नए साल 2024 में शुरुआत आईफोन के शेयरों में कमजोर रही है। गुरुवार को माइक्रोसाफ्ट के शेयरों में 1.5 प्रतिशत बढ़त रही, जिससे कंपनी का बाजार पूंजीकरण (Market Capitalization) 2.888 ट्रिलियन डालर तक पहुंच गया। वहीं, एप्पल के शेयरों में 0.3 प्रतिशत की गिरावट आई। इससे कंपनी का बाजार पूंजीकरण (Market Capitalization) कम हो गया और 2.887 ट्रिलियन डालर पर आ गया।

2021 के बाद गिरा एप्पल का मार्केट कैप

बता दें साल 2021 के बाद पहली बार एप्पल के बाजार पूंजीकरण (Market Capitalization) में माइक्रोसाफ्ट से नीचे आया है। साल 2023 के आखिरी तक एप्पल के शेयरों में 48 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। माइक्रोसॉफ्ट के शेयरों में 57 प्रतिशत वृद्धि रही। माइक्रोसॉफ्ट ने 2023 में बड़े स्तर पर एआई टूल्स लांच किए थे। इस कारण उसको बढ़त करने में मदद मिल गई। हाल में माइक्रोसॉफ्ट ने डिवाइसेज AI की शुरुआत की घोषणा की है। पिछले सप्ताह विंडोज पीसी वाले डिवाइस के Copilot key पेश करने की योजना बताई। यह सुविधा सॉफ्टवेयर निर्माता के एआई असिस्टेंट तक तेजी से पहुंचेगी।

पहले भी बढ़त बनाई थी कंपनी

माइक्रोसॉफ्ट पहले भी कई बार एप्पल को पिछाड़ चुकी है। साल 2018 के बाद से कई बार सबसे मंहगी कंपनी के रूप में बढ़त बनाई है। साल 2021 में कोविड की वजह से सप्‍लाई चेन प्रभावित होने के कारण आईफोन मेकर कंपनी के शेयर नीचे आए थे।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.