Loan की घटेगी EMI, इस दिन से सस्ता मिलेगा होम और कार लोन

Loan Emi Decrease: लोन लेने की सोच रहे लोगों के लिए बेहद अच्छी खबर है। लोन सस्ता होने वाला है। ईएमआई की बोझ कब से कम होगा, उसकी फाइनल डेट भी तय हो गई है।
लोन।
लोन।रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। लोन लेने की सोच रहे लोगों के लिए बेहद अच्छी खबर है। लोन सस्ता होने वाला है। ईएमआई की बोझ कब से कम होगा, उसकी फाइनल डेट भी तय हो गई है। खुदरा महंगाई घटने से रेपो रेट में कटौती की उम्मीद बढ़ गई है। कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज की रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) वित्त वर्ष 2025 की पहली तिमाही के अंत तक अपना रुख बदलेगा। इसके बाद तीसरी तिमाही में दरों में कमी की जाएगी। मतलब साल अंत तक ईएमआई घटनी शुरू हो जाएगी।

आरबीआई ने रेपो रेट में नहीं किया था बदलाव

इससे पहले भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने एक साल से रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है। वहीं, मई 2022 से फरवरी 2023 के बीच पॉलिसी दर में 250 बीपीएस का इजाफा किया था।। इससे होम लोन, कार लोन समेत सभी लोन महंगे हो गए हैं। लोन लेने वालों को अधिक ब्याज चुकाना पड़ रहा है।

आरबीआई के लक्ष्य में आई खुदरा महंगाई

जनवरी में सीपीआई मुद्रास्फीति (खुदरा महंगाई) उम्मीदों के अनुरूप घटकर 5.1 प्रतिशत पर आई। जबकि, मुख्य मुद्रास्फीति 3.5 प्रतिशत पर कम रही। हेडलाइन मुद्रास्फीति में 0.1 प्रतिशत की कमी हुई। पहले सब्जियों, फिर फलों, मसालों, दालों, तेल और वसा के दाम में गिरावट आई।

खाद्य एवं पेय पदार्थों की कीमतें घटीं

रिपोर्ट में बताया गया है कि इस बीच जनवरी में अनाज, मांस-मछली और अंडे की कीमतें बढ़ीं। कुछ महीनों में टिकाऊ मुद्रास्फीति (बढ़ी हुई), खाद्य और पेय पदार्थ मुद्रास्फीति (सब्जियों और फलों को छोड़कर) में गिरावट दिख रहा है। जैसा अपेक्षित था। मुद्रास्फीति की गति में नरमी आ रही है।

तीसरी तिमाही में कम होगी रेपो रेट

रिपोर्ट में कहा गया है कि पहली रेपो दर में कटौती केवल वित्त वर्ष 25 की तीसरी तिमाही में होगी। यह खाद्य कीमतों के दबाव को कम करने एवं यूएस फेड की दर में कटौती चक्र वित्त वर्ष 24 की दूसरी छमाही पर आधारित रहेगी। दर में कटौती से पहले उम्मीद है कि आरबीआई वित्त वर्ष 25 की पहली तिमाही के अंत तक अपना रुख बदलकर तटस्थ कर देगा।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.