Byjus Crisis: निवेशकों ने बायजूज के संस्थापक बायजू रवींद्रन को ही किया बाहर! पति-पत्नी ने ऐसे खड़ी की थी कंपनी

Byjus Latest News: देश के सबसे बड़े एडटेक स्टार्टअप बायजूस (Byjus) को बनाने वाले बायजू रवींद्रन (Byju Raveendran) और उनकी पत्नी दिव्या गोकुलनाथ को निवेशकों ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है।
बायजू रवींद्रन।
बायजू रवींद्रन। रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। देश के सबसे बड़े एडटेक स्टार्टअप बायजूस (Byjus) को बनाने वाले बायजू रवींद्रन (Byju Raveendran) और उनकी पत्नी दिव्या गोकुलनाथ को निवेशकों ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है। शुक्रवार को कंपनी की ईजीएम में 60 फीसदी निवेशकों ने रवींद्रन और उनकी फैमिली को कंपनी से बाहर करने के लिए वोटिंग की।

4 निवेशकों ने मिस मैनेजमेंट का दर्ज कराया था केस

हालांकि रवींद्रन (Byju Raveendran) का कहना है कि यह बैठक एवं इसमें लिए गए निर्णय मान्य नहीं होंगे, लेकिन कंपनी के निवेशक प्रोसस ने कहा है कि शेयरहोल्डरों और बड़े निवेशकों के रूप में हम बैठक की वैधता एवं इसमें लिए गए फैसलों पर अपनी स्थिति को लेकर पूरी तरह से आश्वस्त हैं। इसे हम उचित प्रक्रिया के तहत कर्नाटक हाईकोर्ट (Karnataka High Court) में पेश करेंगे। बता दें इससे पहले एडटेक फर्म बायजू के चार निवेशकों ने एनसीएलटी (NCLT) में मिस मैनेजमेंट के संबंध में केस दायर किया है। केस में रवींद्रन को निदेशक मंडल से हटाने की मांग की गई है। बता दें निवेशक फर्म प्रोसस ने कंपनी का मूल्यांकन भी 22 अरब डॉलर से घटाकर 5.1 अरब डॉलर किया है।

कोरोना काल में बायजूज ने लगाई थी सबसे बड़ी छलांग

बायजू रवींद्रन (Byju Raveendran) और उनकी पत्नी दिव्या गोकुलनाथ ने साल 2011 में बायजूस की स्थापना की थी। बेहद कम समय में बायजूस लर्निंग एप के तौर पर मशहूर हो गई। रवींद्रन ने खुद इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है। फिर उन्होंने साल 2006 में छात्रों को गणित की कोचिंग देनी शुरू की थी। साल 2015 में Byjus लर्निंग एप लांच किया था। यह कंपनी 4 साल में ही यूनिकॉर्न हो गई। सबसे बड़ी उछाल कोरोना संक्रमण काल में आई थी, जब स्कूल-कोचिंग बंद थे।

इन बड़े शेयर होल्डरों ने रवींद्रन के खिलाफ की वोटिंग

कंपनी के शेयरहोल्डरों ने मिस-मैनेजमेंट और फेलियर्स को लेकर EGM बुलाई थी। इसमें Investors Prosus, General Atlantic, Peak XV आदि बड़े शेयर होल्डरों ने कंपनी के फाउंडर बायजू रवींद्रन (Byju Raveendran) एवं उनके परिवारिक सदस्यों को बाहर निकलने के प्रस्ताव पर मंजूरी दे दी।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.