Alert : भारत सरकार की चेतावनी; इन फेक बैंकिंग और ट्रेडिंग एप को कर दें डिलीट, SBI योनो एप का भी मामला समझें

Fake APP: कई फर्जी बैंकिंग और ट्रेडिंग एप की मदद से फ्रॉड हो रहे हैं। इसको लेकर आए दिन सरकार चेतावनी देती है। फिर सरकार ने कुछ फेक एप के बारे में बताया है।
फेक एप।
फेक एप। रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। कई फर्जी बैंकिंग एप और ट्रेडिंग एप हैं। इन एप के चक्कर में कई लोग साइबर फ्रॉड के शिकार हो गए हैं। इसे रोकने के लिए भारत सरकार ने कई कदम उठाए हैं।अब सरकार ने फर्जी एप को लेकर यूजर को चेतावनी दी है। इन फेक एप की जानकारी गृह मंत्रालय की ओर से संचालित साइबर सुरक्षा और साइबर सुरक्षा जागरुकता हैंडल साइबर दोस्त ने दी है। सरकार ने एंड्रॉइड स्मार्टफोन यूजर्स को यूनियन बैंक के फर्जी एप को लेकर अलर्ट दिया है। यूनियन-रिवार्ड्स एपीके (Union-Rewards.apk) नाम का यह एप फेक है, जिसे यूनियन बैंक की ऑफिशियल एप की कॉपी कर बनाया गया है। इस फेक एप में यूजर को रिवॉर्ड देने का भी दावा किया जाता है।

ये एप भी फर्जी

भारत सरकार ने आईफोन यूजर को फर्जी स्टॉक ट्रेडिंग एप को लेकर भी चेतावनी दी है। ग्रुप-एस एप (Group-S app) एक फेक एप है। इसके अलावा INSECG, CHS-SES, SAAI, SEQUOIA, GOOMI नाम के एप भी फर्जी हैं। ये एप भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) के तहत पंजीकृत नहीं हैं। ये एप यूजर को सिफारिशों के आधार पर स्टॉक ट्रेडिंग कराते हैं। इन एप का इस्तेमाल कर यूजर जो शेयर खरीदता है वो जालसाजों के बैंक अकाउंट में जाता है। सेबी ने भी इन एप को लेकर निवेशकों को सावधानी बरतने की सलाह दी है। सेबी ने कहा कि वह सोशल मीडिया, व्हाट्सएप ग्रुप, टेलीग्राम चैनल या एप के माध्यम से मिलने वाले संदेश से दूर रंहे।

एसबीआई Yono App को लेकर फैली थीं अफवाहें

साल 2023 के अंत में भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के बैंकिंग एप योनो (YONO) को लेकर भी यूजर्स को कई मैसेज मिल रहे थे। योनो एप एसबीआई का मोबाइल एप है। इन मैसेज में कहा जा रहा था कि एसएमएस में दिए गए लिंक पर क्लिक कर यूजर जल्द अपने पैन कार्ड (Pan Card) को बैंक अकाउंट से लिंक करें। वह ऐसा नहीं करते हैं तो उनका अकाउंट बंद हो जाएगा। अकाउंट बंद होने के डर से कई यूजर ने उस फिसिंग लिंक (Phishing Link) पर क्लिक कर दिया था, जिसके बाद उनके बैंक अकाउंट से राशि कट गई थी। मतलब उनके साथ फ्रॉड हो गया था। भारत सरकार के फैक्ट चेक विभाग (पीआईबी फैक्ट चेक) ने इस तरह के मैसेज को लेकर एसबीआई बैंक होल्डर को चेतावनी दी। उन्होंने एक्स पोस्ट में यूजर को कहा कि पैन कार्ड को अपडेट कराने को लेकर जारी मैसेज पूरी तरह से फेक है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.