NHPC: सरकार बेच रही एनएचपीसी में हिस्सेदारी, इस कीमत पर बिकेगा एक शेयर

NHPC Equity Share sale: सरकार बिजली पैदा करने वाली कंपनी एनएचपीसी में अपनी 3.5 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने जा रही है। आज से बिक्री की शुरुआत हो रही है।
 एनएचपीसी कंपनी, जिसमें अपनी हिस्सेदारी सरकार बेच रही।
एनएचपीसी कंपनी, जिसमें अपनी हिस्सेदारी सरकार बेच रही।रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। सरकार बिजली पैदा करने वाली कंपनी एनएचपीसी में अपनी 3.5 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने जा रही है। आज से बिक्री की शुरुआत हो रही है। यह हिस्सेदारी बिक्री न्यूनतम 66 रुपए प्रति शेयर के मूल्य पर हो रही। सरकार ने बीते बुधवार को कहा था कि इससे सरकारी खजाने में 2300 करोड़ रुपए आएंगे। निवेश और लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग के सचिव तुहिन कांत पांडे ने एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर लिखा-गैर-खुदरा निवेशकों के लिए एनएचपीसी में बिक्री पेशकश (ओएफएस) गुरुवार से खुल जाएगी। शुक्रवार को खुदरा निवेशक बोली लगा सकते हैं।

25 करोड़ से अधिक शेयर बेचेगी

सरकार 3.5 प्रतिशत इक्विटी का विनिवेश करेगी। एक प्रतिशत का ग्रीनशू ऑप्शन है। मतलब अधिक सब्सक्रिप्शन आने पर एक प्रतिशत अतिरिक्त बोली रखी सकती है। सरकार ओएफएस के हिस्से के रूप में एनएचपीसी में 25 करोड़ से अधिक इक्विटी शेयर बेचने वाली है। इसमें ग्रीनशू ऑप्शन के जरिए 10 करोड़ शेयर और बेचे जा सकेंगे।

बुधवार को बढ़त पर था शेयर

66 रुपए प्रति शेयर का न्यूनतम मूल्य बुधवार को एनएचपीसी शेयरों के बंद भाव से 9.66 प्रतिशत की छूट पर है। न्यूनतम कीमत पर बिक्री पेशकश से सरकारी खजाने को करीब 2300 करोड़ रुपए मिलेंगे। बुधवार को एनएचपीसी का शेयर बीएसई में 0.90 प्रतिशत की बढ़त के साथ 73.06 रुपये प्रति इक्विटी पर बंद हुआ।

कंपनी के ईपीएस में बढ़ोतरी की संभावना

एनएचपीसी पर नजर डालें तो हाल में रिपोर्ट में बताया गयया कि वित्तीय वर्ष 2024-28 के बीच कंपनी की आरईई में 117 प्रतिशत की बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है। इसके अतिरिक्त शॉर्ट टर्म पंप स्टोरेज में कंपनी के एंट्री करने और बड़ी परियोजनाओं पर शानदार अमल होने से इसके ईपीएस में बढ़त की संभावना है। एनएचपीसी देश की अग्रणी हाईड्रोइलेक्ट्रिक कंपनी है। कंपनी के पास 25 इलेक्ट्रिक प्लांट हैं, जिससे रिन्युएबल इनर्जी की क्षमता 7097.2 मेगावाट है। खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.