25 की उम्र में Job पकड़ी, 29 में ले लिया रिटायरमेंट, Google का पूर्व कर्मी बोला-पूरी जिंदगी का इंतजाम कर लिया

Early retirement formula: 25 साल की उम्र में नौकरी ज्वाइन की। 29 साल की उम्र में रिटायरमेंट ले लिया। इन चार साल में ही पूरी जिंदगी के लिए पैसों का इंतजाम कर लिया।
डेनियल जॉर्ज।
डेनियल जॉर्ज।रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। 25 साल की उम्र में नौकरी ज्वाइन की। 29 साल की उम्र में रिटायरमेंट ले लिया। इन चार साल में ही पूरी जिंदगी के लिए पैसों का इंतजाम या यूं कहें की बेहतरीन रिटायरमेंट प्लान कर लिया। यह प्रेरक और दिलचस्प कहानी आईआईटी बॉम्बे से पढ़े डेनियल जॉर्ज की है। इन दिनों यह सोशल मीडिया पर छाए हैं। नौजवानों के लिए मार्गदर्शक बन गए हैं। जॉर्ज ने जॉब शुरू करने के साथ मन बनाया था कि बहुत समय तक नौकरी नहीं करेंगे। इसे अपने जेहन में रखा पैसे जोड़ना शुरू कर दिया।

2.2 करोड़ रुपए थी सैलरी

जब डेनियल जॉर्ज आईआईटी बॉम्बे में पढ़ रहे थे, तब जल्द रिटायर होने के बारे में सोच लिया था। तब उनकी उम्र 24 वर्ष थी। 2015 में फिजिक्स इंजीनियरिंग की बैचलर डिग्री लेकर समर इंटरशिप की। 2018 में गूगल से ऑफर मिला। सैलरी 2,65,000 अमेरिकी डॉलर (2.2 करोड़ रुपए) थी। जॉब एआई (AI) इंजीनियर की थी। नौकरी पाकर जॉर्ज ने जब गुना-गणित बैठाया तो पाया कि कुछ साल काम करने के बाद चाहें तो वे भारत वापस जा सकते हैं। नौकरी से रिटायरमेंट ले सकते हैं।

टैक्स बचाने को शुरू किया बढ़िया काम

जॉर्ज का कहना है कि अब उसके पास इतने पैसे है कि उसे भविष्य में सैलरी की चिंता की जरूरत नहीं है। उन्होंने बताया कि गूगल, एक्स के साथ काम करना मेरी ड्रीम जॉब थी। इन कंपनियों में काम करना खूबसूरत सपनों-सा था। वहां अनलिमिटेड फूड और ड्रिंक्स थे। गूगल में सालभर बिताने के बात फाइनेंस और टैक्स के बारे में प्राथमिकता पर सोचना शुरू किया। मैं काफी अच्छा पैसा कमा रहा था, मगर 50 फीसदी पैसा टैक्स में ही दे रहा था।

कमाई का 10 परसेंट से भी कम खर्च किया

जॉर्ज ने सोचा इतना टैक्स भरने से अच्छा है कि वे रिटायरमेंट फंड में अधिक से अधिक पैसा डालें। उन्होंने ऐसा करना शुरू किया। जब मैं गूगल में काम कर रहा था, मैंने कमाई का 10 परसेंट से भी कम खर्च किया। मैं कभी बाइक पर तो कभी पैदल काम पर चला जाता था। मैं दिन का तीन वक्त का खाना गूगल में करता था। सिलिकॉन वैली में घर काफी महंगे हैं, लेकिन मैं कुछ दोस्तों के साथ अपार्टमेंट में रहता था। मेरे हिस्से में काफी कम किराया आता था।

गूगल की नौकरी छोड़ी

उन्होंने जून 2020 में अमेरिकी इन्वेस्टमेंट बैंक जेपी मॉर्गन से ऑफर मिला। ऐसे में गूगल को अलविदा कहा। इससे मेरी आय और नेटवर्थ बढ़ गई थी, लेकिन मैं बहुत सिंपल लाइफ जी रहा था। मैं खाना पकाना नहीं चाहता था तो बाहर खाने के अलावा और कुछ नहीं किया। मेरे पास अपनी चीजों में कपड़े, एक गद्दा, एक बेड और 56 इंच का टीवी था। इसके अलावा कुछ भी नहीं।

जेपी मॉर्गन से मिली सैलरी और बड़े-बड़े बोनस का 70 फीसदी हिस्सा

उन्होंने बताया कि जब 27 साल के हुए तो पहली मिलियन डॉलर सेविंग को छू चुके थे। जेपी मॉर्गन से मिलने वाले सैलरी और बड़े-बड़े बोनस का 70 फीसदी हिस्सा निवेश करता रहा। अगस्त 2023 में जब 29 साल के हुए तो जेपी मॉर्गन को भी छोड़ा और अपना काम शुरू कर लिया। कुछ दोस्तों के साथ मिलकर स्टार्टअप ThirdEar AI शुरू किया। जॉर्ज कहते हैं कि मुझे अब अपनी सैलरी को लेकर चिंता नहीं करनी पड़ेगी। मैं अपनी कंपनी बनाने का जोखिम ले सकता हूं।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.