बिना रुकावट UPI पेमेंट को 31 दिसंबर से पहले कर लें यह काम, नहीं तो ID हो जाएगी बंद

UPI Payment: यूपीआई ट्रांजेक्शन के लिए आप गूगल पे, फोन पे, पेटीएम, भीम का सहारा लेते हैं। इसके लिए यूपीआई आईडी जरूरी होती है।
यूपीआई पेमेंट।
यूपीआई पेमेंट।रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। यूपीआई ट्रांजेक्शन के लिए आप गूगल पे, फोन पे, पेटीएम, भीम का सहारा लेते हैं। इसके लिए यूपीआई आईडी जरूरी होती है। खासतौर पर डिजिटल पेमेंट एप के माध्यम से लेन-देन के लिए यूपीआई आईडी जरूरी है। वैसे, कुछ यूपीआई यूजर्स के लिए ट्रांजेक्शन सर्विस बंद की जा सकती है। दरअसल, भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (National Payment Corporation of India) ने हाल में अधिसूचना जारी कर कहा था कि यूपीआई यूजर्स का एक्टिव होना जरूरी है। 1 साल में किसी तरह का लेन-देन नहीं हुआ है तो उनकी यूपीआई आईडी बंद कर दी जाएगी।

31 दिसंबर से पहले करें यह काम

आप नहीं चाहते हैं कि आपका भी यूपीआई अकाउंट बंद हो तो 31 दिसंबर से पहले अकाउंट एक्टिवेट कर लें। यूपीआई आईडी को एक्टिव करने के बाद एनपीसीआई आईडी बंद नहीं करेगा।

कैसे एक्टिव करें इनएक्टिव आईडी?

इनएक्टिव यूपीआई आईडी को एक्टिव करने को किसी के साथ लेन-देन करें। या अन्य तरह के भुगतान जैसे-बिल पेमेंट, फोन रिचार्ज, रेंट पे आदि यूपीआई आईडी से कर सकते हैं।

क्यों जारी हुई नई गाइडलाइन?

गलत लेन-देन को रोकने के लिए एनपीसीआई ने यूपीआई आईडी की नई गाइडलाइन जारी की है। ऐसे में लेन-देन प्रक्रिया गलत यूजर तक नहीं होगी और इसका किसी तरह का गलत इस्तेमाल नहीं हो सकेगा।

कैसे होता है गलत इस्तेमाल?

दरअसल, जब लोग फोन नंबर बदलते हैं तो वह पुराने नंबर से चल रहे यूपीआई आईडी को बंद नहीं करते हैं। इससे महीनों तक बंद नंबर को किसी और के नाम पर दे दिया जाता है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.