Azim Premji ने बेटों को गिफ्ट किए 1 करोड़ Share, Wipro के इन शेयरों की कीमत जानकर सिर घूम जाएगा

Wipro: देश की तीसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी विप्रो (Wipro) के फाउंडर अजीम प्रेमजी (Azim Premji) ने अपने बेटों को बड़ा गिफ्ट दिया है। अजीम प्रेमजी ने कंपनी के 1 करोड़ शेयर बेटों को दे दिए हैं।
विप्रो के फाउंडर अजीम प्रेमजी।
विप्रो के फाउंडर अजीम प्रेमजी। @MarketingMvrick एक्स सोशल मीडिया।

नई दिल्ली, रफ्तार। देश की तीसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी विप्रो (Wipro) के फाउंडर अजीम प्रेमजी (Azim Premji) ने अपने बेटों को बड़ा गिफ्ट दिया है। अजीम प्रेमजी ने कंपनी के 1 करोड़ शेयर बेटों को दे दिए हैं। ये शेयर 500 करोड़ रुपए के हैं। कारोबारी ने बेट ऋषद प्रेमजी (Rishad Premji) और तारिक प्रेमजी (Tariq Premji) को ये शेयर दिए हैं। यह जानकारी स्टॉक एक्सचेंजों के आंकड़ों से मिली है। गिफ्ट में दिए ये शेयर कंपनी की शेयर कैपिटल का सिर्फ 0.20 फीसदी हिस्सा है। एक्सचेंज फाइलिंग के मुताबिक अजीम प्रेमजी ने कंपनी के 51,15,090 इक्विटी शेयर बेटे ऋषद प्रेमजी को गिफ्ट किए। इतने ही शेयर तारिक को भी दिए।

कंपनी के चेयरमैन हैं ऋषद प्रेमजी

इस समय विप्रो के चेयरमैन ऋषद प्रेमजी हैं। तारिक विप्रो एंटरप्राइजेज के नॉन एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर हैं। इस ट्रांजेक्शन से कंपनी की कुल प्रमोटर और प्रमोटर ग्रुप शेयरहोल्डिंग में बदलाव नहीं किया गया है। इस ट्रांजेक्शन के बाद कंपनी में अजीम प्रेमजी की हिस्सेदारी 4.3 फीसदी बची है। जबकि, ऋषद और तारिक की हिस्सेदारी 0.13 फीसदी हो गई।

प्रेमजी फैमिली की हिस्सेदारी 4.43% है

विप्रो में प्रेमजी फैमिली मेंबर्स की हिस्सेदारी 4.43 फीसदी है। इसमें अजीम प्रेमजी की पत्नी यास्मिन प्रेमजी की 0.05 फीसदी हिस्सेदारी है। दिसंबर 2023 तक विप्रो में 72.90 फीसदी प्रमोटर हिस्सेदारी थी।

2,48,185.23 करोड़ मार्केट कैप

विप्रो का शेयर बुधवार को 478 रुपए पर बंद हुआ था। गुरुवार की दोपहर शेयर बीएसई पर 0.69 फीसदी की गिरावट के साथ 474.70 रुपए पर था। कंपनी का मार्केट कैप 2,48,185.23 करोड़ रुपए था। विप्रो के शेयर का 52 वीक हाई 526.45 रुपए है। इसका 52 वीक लो लेवल 17 अप्रैल 2023 को 351.85 रुपए था। विप्रो का शेयर 2 रुपए की फेस वैल्यू पर कारोबार कर रहा। विप्रो कंप्यूटर-सॉफ्टवेयर एंड कंसल्टिंग इंडस्ट्री की कंपनी है। इसका पीई 27.94 है। ROE 16.69 है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करेंwww.raftaar.in

Related Stories

No stories found.