Fastags: फास्टैग यूजर्स के लिए एडवाइजरी जारी, आज ही कर लें ये काम

Fastags Update: फास्टैग यूजर्स के लिए अहम एडवाइजरी जारी की गई है। नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (National Highway Authority of India) की रोड टोलिंग अथॉरिटी ने 32 बैंकों की लिस्ट निकाली है।
फास्टैग और नितिन गडकरी।
फास्टैग और नितिन गडकरी।रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। फास्टैग यूजर्स के लिए अहम एडवाइजरी जारी की गई है। नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (National Highway Authority of India) की रोड टोलिंग अथॉरिटी ने 32 बैंकों की लिस्ट निकाली है। इसके साथ ही यूजर्स को बताया गया है कि इन्हीं बैंकों से फास्टैग खरीदें। लिस्ट में पेटीएम पेमेंट्स बैंक फास्टैग का नाम नहीं था। इसका मतलब है कि पेटीएम फास्टैग यूजर्स को नया फास्टैग लेना होगा। एक अनुमान के अनुसार देश में 2 करोड़ से ज्यादा पेटीएम फास्टैग यूजर्स हैं।

RBI ने पेटीएम पेमेंट बैंक पर लगाई है रोक

बता दें कि आरबीआई ने पेटीएम पेमेंट बैंक पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। RBI के निर्देश के मुताबिक 29 फरवरी के बाद पेटीएम पेमेंट बैंक को अपनी सभी सेवाएं रोक दी हैं।

सोशल मीडिया पर बयान जारी

नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) ने सोशल मीडिया हैंडल एक्स पर पोस्ट कर बताया है कि बिना किसी झंझट के फास्टैग के साथ यात्रा पूरी करें। सिर्फ नीचे दिए गए बैंकों से ही फास्टैग खरीदें। लिस्ट में 32 बैंकों का नाम है। इसमें पेटीएम नहीं है। कुछ रिपोर्ट में बताया गया है कि हाईवे अथॉरिटी द्वारा लिए गए इस निर्णय का उद्देश्य पेटीएम फास्टैग यूजर्स को झंझट से बचाना है, जिससे हाईवे पर यात्रा करने के दौरान टोल चुकाने को लेकर उन्हें किसी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़े।

7 करोड़ फास्टैग यूजर्स

देश में करीब 7 करोड़ फास्टैग यूजर्स हैं। पेटीएम पेमेंट बैंक का दावा है कि उसके पास 30 प्रतिशत से अधिक मार्केट शेयर है। ऐसे में पेटीएम पेमेंट बैंक यूजर्स की अनुमानित संख्या 2 करोड़ है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.