Budget 2024: देश का पहला बजट हो गया था लीक, पेश होने से पहले पहुंच गया था ब्रिटेन, जानें कब-कब लीक हुआ Budget

Budget 2024 Live: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में बजट 2024 पेश कर रहीं हैं। यह अंतरिम बजट है। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का अंतरिम बजट है, क्योंकि अप्रैल-मई में लोकसभा चुनाव होने हैं।
बजट का इतिहास।
बजट का इतिहास।रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लोकसभा में बजट 2024 पेश कर रहीं हैं। यह अंतरिम बजट है। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का अंतरिम बजट है, क्योंकि अप्रैल-मई में लोकसभा चुनाव होने हैं। बहरहाल, हम आपको बता रहे हैं कि बजट गुप्त क्यों रखा जाता है? बजट जारी होने से पहली इसकी सुरक्षा इतनी बढ़ाने जाने के पीछे बड़ी वजह है। भारत में बजट बेहद गोपनीय है। इसमें मौजूद सभी बातों को जारी होने से पहले बहुत गोपनीय रखा जाता है। बजट निर्माण के समय वित्त मंत्री ऑफिस नॉर्थ ब्लॉक की सुरक्षा काफी अधिक बढ़ाई जाती है। खुफिया एजेंसी आईबी के एजेंट पूरे ब्लॉक और बजट निर्माण काम में लगे लोगों की हर एक हरकतों पर निगाह रखते हैं। बजट तैयार करने वाली टीम और उनके परिवार वालों की सभी गतिविधियों पर पैनी नजर रखी जाती है।

26 नवंबर 1947 में बजट हुआ था लीक

आजाद भारत का पहला बजट ही लीक हो गया था। घटना 26 नवंबर 1947 की है। तत्कालीन वित्त मंत्री आरके शनमुखम चेट्टी ने बजट की घोषणा की थी। जबकि, बजट पेश होने से पहले उससे जुड़ी कुछ बातें ब्रिटेन के राजकोष के चांसलर ह्यूग डाल्टन द्वारा पत्रकार को दे दी गई थी। ये जानकारियां भारत सरकार द्वारा टैक्स में बदलाव को लेकर थीं। ये अहम जानकारियां लीक होने के बाद मामला तूल पकड़ा और इतना बढ़ा कि डाल्टन को तत्काल प्रभाव से अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था।

1950 में दूसरी बार लीक हुआ था

साल 1950 में भी बजट का कुछ हिस्सा लीक हुआ था। उस वक्त जॉन मथाई वित्त मंत्री थे। राष्ट्रपति भवन में बजट की छपाई होने वाली थी। मगर, इसके लीक होते ही बजट की छपाई राष्ट्रपति भवन की जगह नई दिल्ली के मिंटो रोड में ट्रांसफर की गई थी। उस वक्त से अब तक बजट को काफी सुरक्षित रखा जा रहा है। इसके बनने से लेकर पेश होने तक इससे जुड़े से शामिल अधिकारियों के हर एक सदस्यों की हरकतों पर पैनी नजर रखी जाती है।

लीक होने से जमाखोरों और कर चोरों को मिल सकती है मदद

एक्सपर्ट बताते हैं कि बजट पेश होने से पहले लीक होने से जमाखोरों और कर चोरों को मदद मिल सकती है। इस कारण से बजट को हमेशा गोपनीय रखा जाता रहा है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.