Rohit Sharma ने तोड़ा MS Dhoni का रिकॉर्ड, अफगानिस्तान के खिलाफ जीरो पर आउट होने के बाद भी रचा कीर्तिमान

Rohit Sharma Record: अफगानिस्तान के खिलाफ दूसरे टी-20 मैच में टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा खाता भी नहीं खोल सके। इसके बावजूद बड़ा रिकॉर्ड बनाया है।
टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा।
टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा।@ImRo45 एक्स सोशल मीडिया।

नई दिल्ली, रफ्तार। अफगानिस्तान के खिलाफ दूसरे टी-20 मैच में टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा खाता भी नहीं खोल सके। इसके बावजूद बड़ा रिकॉर्ड बनाया है। रोहित ने पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को पीछे छोड़ दिया है। रोहित ने टी-20 में कप्तानी के मामले में धोनी की न सिर्फ बराबरी की, बल्कि उन्हें पीछे छोड़ दिया है। धोनी ने टीम के लिए टी-20 के 72 मैचों में कप्तानी की थी। इनमें से भारतीय टीम को 41 मैचों में जीत मिली थी। अब रोहित ने धोनी के इस रिकॉर्ड की बराबर कर ली है। रोहित ने बतौर कप्तान भारतीय टीम को 41 मैच जीताया है। खास बात है कि यह कारनामा सिर्फ 53 मैचों में किया है। कल (14 जनवरी) को अफगानिस्तान के खिलाफ भारतीय टीम की जीत रोहित की कप्तानी में 41वीं जीत थी।

77.35 का जीत प्रतिशत

रोहित की कप्तानी में भारतीय टीम ने 77.35 फीसदी टी-20 मुकाबले जीती है। इससे साफ है कि इनकी कप्तानी में टीम इंडिया शानदार प्रदर्शन कर रही है। बतौर कप्तान यह प्रदर्शन बता रहा है कि रोहित टी-20 वर्ल्ड कप में भी कप्तानी करने के सबसे बड़े दावेदार हैं। अब भारत को अफगानिस्तान के खिलाफ तीसरा टी-20 मुकाबला 17 जनवरी को खेलेगा।

रोहित का टी-20 कॅरियर

रोहित शर्मा ने टीम इंडिया के लिए टी-20 के 148 मुकाबले खेले हैं। इन्होंने 139.25 की स्ट्राइक रेट एवं 30.82 की औसत से 3853 रन ठोके हैं। रोहित ने रिकॉर्ड 4 शतक जड़े हैं। इसके अतिरिक्त 29 बार अर्द्धशतक बनाए हैं। बहरहाल, 14 महीने बाद उनकी भारत की टी-20 टीम में वापसी हुई है।

वनडे वर्ल्ड कप में 11 मैचों में 597 रन जड़े

रोहित की अगुवाई में भारतीय टीम वनडे वनडे वर्ल्ड कप में फाइनल तक पहुंची। टूर्नामेंट में बतौर बल्लेबाज रोहित कामयाब रहे हैं। रोहित ने 11 मैचों में 597 रन बनाए थे। वैसे, इस टूर्नामेंट में रोहित ने बतौर ओपनर बहुत बड़ी पारी नहीं खेली, लेकिन हर मैच में तूफानी शुरुआत दी थी। रोहित के बाद आने वाले बल्लेबाजों ने आसानी से रन बटोरे। कप्तान ने जिस अंदाज में बल्लेबाजी की थी, उससे अन्य बल्लेबाजों को आत्मविश्वास मिलता था।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.