Adipurush Controversy: फिल्म आदिपुरुष को लेकर अनुराग ठाकुर सख्त, कहा- भावनाएं आहत करने का किसी को अधिकार नहीं

सूचना एंव प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने आदिपुरुष फिल्म को लेकर यह साफ कर दिया है कि किसी भी व्‍यक्ति को किसी की भावनाएं आहत करने का कोई अधिकार नहीं है।
Anurag Thakur
Anurag Thakur

नई दिल्ली, रफ्तार न्यूज डेस्क। भगवान राम के जीवन पर आधारित फिल्‍म आदिपुरुष को लेकर चल रहे विवाद के बाद अब केंद्र सरकार भी हरकत में आ गई है। सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने फिल्म को लेकर यह साफ कर दिया है कि किसी भी व्‍यक्ति को किसी की भावनाएं आहत करने का कोई अधिकार नहीं है। यही कारण है कि अब फिल्‍म के डायलॉग बदलने की बात कही जा रही है।

आदिपुरुष विवाद पर बोले अनुराग ठाकुर

उन्‍होंने मीडिया से बातचीत में कहा, ‘सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन ने इस पर जो फैसला करना है वो किया है, जो उसका काम भी है। फिल्‍म के निर्माता-निदेशक हैं, जो फिल्‍म के लेखक भी हैं, उन लोगों ने फिल्‍म के संवाद बदलने की बात कही है। किसी की भी भावनाओं को आहत करने का किसी को अधिकार नहीं है।’

हाईकोर्ट में दायर की गई याचिका

बता दें कि आदिपुरुष फिल्‍म के खिलाफ हिन्‍दू सेना के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष विष्‍णु गुप्‍ता ने दिल्‍ली हाई कोर्ट में जनहित याचिका भी दायर की है। याचिका में कहा गया है कि फिल्‍म में प्रभु श्रीराम का मजाक उड़ाया गया है। इस याचिका में फिल्‍म को बैन करने की मांग की गई है।  

डायलॉग की भाषा पर उठठ रहे सवाल

जिन लोगों ने भी इस फिल्‍म को देखा है उनका कहना है कि इसमें जिस तरह की भाषा का प्रयोग किया गया है वो रामायण के समय पर त्रेता युग की भाषा से बिल्कुल मेल नहीं खाती है। फिल्‍म में एक सीन में डायलॉग का इस्‍तेमाल किया गया है, ‘तेरी जली ना?’ इतना ही नहीं एक अन्‍य जगह डायलॉग है ‘तेल तेरे बाप का आग तेरे बाप की…’ इन डायलॉग पर लगातार विवाद हो रहा है।

Related Stories

No stories found.