'24 घंटे के भीतर राजधानी दिल्ली में 4 हत्याएं', CM केजरीवाल ने LG को घेरा, केंद्र सरकार पर भी लगाए कई आरोप

सीएम केजरीवाल ने दिल्ली की कानून व्यवस्था के लिए सीधे गृह मंत्री और उपराज्यापल जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने बढ़ते अपराधों को देखते हुए एलजी के साथ दिल्ली कैबिनेट की बैठक का भी प्रस्ताव रखा है।
CM Kejriwal
CM KejriwalSocial Media

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। दिल्ली की बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर सीएम अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल वीके सक्सेना को पत्र लिखा है। केजरीवाल ने चिट्ठी में दिल्ली की कानून व्यवस्था को लेकर चिंता जताई है। केजरीवाल ने लिखा पिछले 24 घंटों में दिल्ली में 4 हत्याएं हुई हैं। उन्होंने कहा हर नागरिक असुरक्षित महसूस कर रहा है।

सीएम केजरीवाल ने दिल्ली की कानून व्यवस्था के लिए सीधे गृह मंत्री और उपराज्यापल जिम्मेदार ठहराया है। सीएम केजरीवाल ने दिल्ली में बढ़ते अपराधों को देखते हुए एलजी के साथ दिल्ली कैबिनेट की बैठक का भी प्रस्ताव रखा है।

‘आप’ ने कानून व्यवस्था को लेकर एलजी को घेरा

इससे पहले आप के नेताओं ने सोमवार को ट्वीट करके आरोप लगाया था कि उपराज्यपाल अपना काम करने के बजाय दिल्ली सरकार के काम का क्रेडिट लेने में लगे रहते हैं। पार्टी की मुख्य प्रवक्ता प्रियंका कक्कड़ ने प्रेसवार्ता में आरोप लगाया कि उपराज्यपाल से दिल्ली की कानून व्यवस्था नहीं संभल रही है। इसलिए राजधानी दिल्ली में लगातार आपराधिक घटनाएं बढ़ रही हैं। कक्कड़ ने कहा कि रविवार शाम को दिल्ली यूनिवर्सिटी के साउथ कैंपस के अंदर घुसकर छात्र निखिल चौहान की हत्या कर दी गई। 

केंद्र सरकार पर भी साधा निशाना

आम आदमी पार्टी के नेता ने कहा कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में उसके पिता को रोते-बिलखते देखकर दिल दहल गया। सिर्फ निखिल की हत्या नहीं की गई, बल्कि उसके पूरे परिवार को मारा गया है। इस प्रकार की घटनाएं लगातार बढ़ती ही जा रही हैं। उन्होंने कभी युवती को कार के नीचे 12 किलोमीटर तक घसीटा जाता है तो कभी घर में घुसकर दो महिलाओं को गोली मार दी जाती है। इन घटनाओं से पता चलता है कि दिल्ली में लोग कितने असुरक्षित हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी की केंद्र सरकार के अधीन दिल्ली की कानून व्यवस्था आती है और केंद्र सरकार दिल्ली में लगातार अपराधियों का मनोबल बढ़ा रही है। बड़े अपराधी भाजपा के मंच पर पाए जाते हैं। यही वजह है कि अपराधी निडर हो गए हैं।

Related Stories

No stories found.