झांसी और चित्रकूट लिंक एक्सप्रेस-वे के लिए 235 करोड़ का ऐलान, हजारों लोगों को होगा फायदा

यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण द्वारा 1000 एकड़ भूमि पर अन्तरराष्ट्रीय फिल्म सिटी की स्थापना की जा रही है।
झांसी और चित्रकूट लिंक एक्सप्रेस-वे के लिए 235 करोड़ का ऐलान, हजारों लोगों को होगा फायदा

लखनऊ, एजेंसी। उत्तर प्रदेश विधानसभा सत्र के तीसरे दिन बुधवार को वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने बजट पेश किया है। इसमें उन्होंने झांसी और चित्रकूट लिंक एक्सप्रेस-वे के लिए 235 करोड़ का ऐलान किया है।

गोरखपुर में औद्योगिक गलियारा विकसित किये जाने के लिए 200 करोड़ रुपये की व्यवस्था
उन्होंने कहा कि प्रदेश के 60.397 किलोमीटर लम्बाई की सड़कों को गड्ढामुक्त और 14,144 किलोमीटर लम्बाई के मार्गों को नवीनीकृत किया गया। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर यातायात संचालित है। एक्सप्रेस-वे के आसपास औद्योगिक क्लस्टर्स स्थापित करने की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है। बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका हैं। एक्सप्रेस-वे के आसपास औद्योगिक क्लस्टर्स स्थापित करने की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है। गोरखपुर पूर्वांचल लिंक एक्सप्रेस-वे परियोजना का निर्माण प्रगति पर है तथा दिसम्बर, 2022 तक 56 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है । मेरठ से प्रयागराज तक लगभग 594 किमी लम्बे लगभग रुपये 36230 करोड़ लागत से बन रहे गंगा एक्सप्रेस वे के निर्माण का कार्य प्रगति पर है। बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे के साथ डिफेन्स कॉरीडोर परियोजना के लिए 550 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित है। गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे के दोनों तरफ गोरखपुर में औद्योगिक गलियारा विकसित किये जाने के लिए 200 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित है।


प्रदेश में पर्यटन को देंगे बढ़ावा
उन्होंने बताया यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण द्वारा 1000 एकड़ भूमि पर अन्तरराष्ट्रीय फिल्म सिटी की स्थापना की जा रही है। फिल्म सिटी से लगभग 10,000 करोड़ रुपये से अधिक के निवेश की सम्भावना के साथ-साथ रोजगार एवं वाणिज्यिक गतिविधियों में वृद्धि होगी । वर्तमान सरकार के अब तक के कार्यकाल में लगभग 21,696. किलोमीटर लम्बाई में ग्रामीण मार्गो का निर्माण किया जा चुका है। लगभग 18,407 किमी0 लम्बाई में मार्गों का चौड़ीकरण एवं सुदृढीकरण किया जा चुका है । 188 दीर्घ सेतु पहुंच मार्ग सहित पूर्ण किये जा चुके हैं तथा 74 रेल उपरिगामी सेतुओं का निर्माण कार्य पूर्ण कर आवागमन के लिए के लिए चालू किये जा चुके हैं। उन्होनें बताया कि प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने एवं जनसामान्य को यातायात की सुविधा देने के उद्देश्य से अन्तरराष्ट्रीय और अन्तरराज्यीय मार्गों का विकास, जिसके क्रम में 1024 किमी लम्बाई की 87 सड़कों में 75 सड़कों का निर्माण पूर्ण हो चुका है ।

Related Stories

No stories found.