Political Kissa: प्रधानमंत्री जिन्होंने लिया कार लोन, परिवार ने निभाया अपना धर्म, कर्जमाफी को ठुकराया

Political Kissa: ऐसा ही एक चुनावी किस्सा है जो काफी प्रेणनादायक है। यह किस्सा एक पूर्व प्रधानमंत्री से जुड़ा हुआ है।
प्रतीकात्मक फोटो
प्रतीकात्मक फोटोraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। देश में लोकसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान 19 अप्रैल 2024 को हो चुके हैं। वहीं दूसरे चरण के लिए मतदान 26 अप्रैल 2024 को होने हैं। ऐसे में पूरे देश में चुनावी किस्से बहुत पसंद किए जा रहे हैं। ऐसा ही एक चुनावी किस्सा है जो काफी प्रेणनादायक है। यह किस्सा एक पूर्व प्रधानमंत्री से जुड़ा हुआ है।

उस समय कार की कीमत 12 हजार रूपए थी

आज का चुनावी किस्सा हमारे देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री से जुड़ा है। पूर्व पीएम लाल बहादुर शास्त्री को कौन नहीं जानता है। वह अपने साधारण जीवन और उच्च विचार के लिए जाने जाते थे। प्रधानमंत्री बनने के बाद भी उनके पास कार नहीं थी। जैसा कि अधिकतर सभी परिवार में बच्चों का अपने माता पिता पर कार लेने के लिए दवाब बनाया जाता है। तो माता पिता अपना बजट बनाकर अपने बच्चों की इस इच्छा को पूरा करने की कोशिश करते हैं। ठीक उसी प्रकार पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने किया। उन्होंने पंजाब नेशनल बैंक से लोन पर एक कार खरीदी। उस समय कार की कीमत 12 हजार रूपए थी। वे पहले ऐसे प्रधानमंत्री होंगे, जिन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान लोन लिया होगा।

उनकी पत्नी कार लोन की मासिक किस्त देती रही

पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के पास उस समय कार लेने के लिए पैसे नहीं थे। उन्हें कार के लिए पूरी रकम चुकाने के लिए पंजाब नेशनल बैंक से 5 हजार का लोन लेना पड़ा था। वह इतने साधारण और उच्च विचार वाले प्रधानमंत्री थे कि सबका बराबर ध्यान रखते थे। जब उन्होंने अपनी कार के लिए 5 हजार का लोन लिया था। उस समय उन्होंने बैंक के कर्मचारियों को कहा था कि जो सुविधा उन्हें दी गयी है, वो सुविधा सभी आम नागरिकों को दी जानी चाहिए। इससे पहले की पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री अपना कार लोन चुका पाते उससे एक साल पहले ही उनका देहांत हो गया। उनके निधन के बाद प्रधानमंत्री बनी इंदिरा गांधी ने उनके परिवार से उनका लोन माफ करने की अपनी पेशकश रखी। लेकिन लाल बहादुर शास्त्री की पत्नी ललिता शास्त्री ने मना कर दिया था। वह लाल बहादुर शास्त्री की मौत के चार साल बाद तक कार लोन की मासिक किस्त देती रही। उनकी पत्नी ने कार लोन की किस्त का पूरा भुगतान कर दिया था। कुछ इस तरह का था लाल बहादुर शास्त्री से जुड़ा किस्सा।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.