Loksabha Election: पोलिंग बूथ में महिलाओं की ID चेक करने लगीं बीजेपी उम्मीदवार माधवी लता, केस दर्ज

हैदराबाद लोकसभा क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार माधवी लता ने निर्वाचन क्षेत्र में एक मतदान केंद्र का दौरा किया। यहां उन्होंने मुस्लिम महिलाओं के आईडी कार्ड चेक किए।
BJP candidate Madhvi Lata
BJP candidate Madhvi Lata

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। लोकसभा चुनाव 2024 में हैदराबाद लोकसभा सीट के सांसद और असदउद्दीन औवैसी (एआईएमआईएम) के सामने भाजपा ने माधवी लता को उतारा है। जहां एक तरफ ओवैसी अपने भाषणों के कारण सुर्खियों में रहते है, उसी तरह कुछ दिन पहले लता भी सुर्खियों में आ गई, जब रैली के दौरान उन्होंने एक स्मारक की इशारे लेकर सुर्खियों में आ गईं थी।

हैदराबाद की सीट पर हो रही वोटिंग

आज इस सीट पर वोटिंग हो रही है और एक बार फिर माधवी लता सुर्खियों में आ गई हैं। दरअसल भाजपा उम्मीदवार माधवी लता हैदराबाद सीट के एक मतदान केंद्र का दौरा करने पहुंची। लेकिन इस दौरान वे वहां बुर्का पहन कर बैठी महिलाओं का बुर्का उठाकर देखने लगी। इसके अलावा वह उनके आईडी भी चैक करने लगी। साथ ही कई सवाल भी पूछने लगी।

क्या बोलीं लता

लता का जब बुर्का उठाकर चेकिंग करने का वीडियो वायरल हुआ तो उसके जवाब में उन्होंने कहा कि वह एक उम्मीदवार है और कानून के अनुसार एक उम्मीदवार के पास आईडी चैक करने का अधिकार होता है। उन्होंने कहा कि जिन्होंने बुर्का पहना था उन्होंने केवल उनका ही आईडी चेक किया। साथ ही कहा कि अगर कोई इस बात का मुद्दा बनाना चाहता है तो इसका मतलब है कि वह इस मामले पर डरता है।

क्या कहते हैं नियम

नियम के अनुसार मतदान केंद्र के 100 मीटर के दायरे के अंदर कोई भी उम्मीदवार किसी भी मतदाता को किसी के लिए वोट डालने या ना डालने के लिए नहीं कह सकता। साथ बूठ कैपचरिंग जिसमें किसी भी मतदाता को वोट न डालने देने जैसा कृत्य शामिल है, यह कृत्य दण्डनीय अपराध है। मतदान करने के लिए परिसर में प्रशासन द्वारा मतदाताओं को पर्ची दी जाएगी जिसपर मतदाता की फोटो होगी। अब बात अगर माधवी लता की करें तो माधवी लता तो माधवी लता जी को यह अधिकार किसने दिया है कि वह लोगों के चेहरे देखे। शिनाख्त का काम ड्यूटी अफसरों का है और उन्होंने यह काम मतदान केंद्र के अंदर किया है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.