LokSabha Phase 4 Election: चौथे चरण में 62.58 प्रतिशत वोटिंग, बंगाल ने सबको पछाड़ा, J&K में सबसे कम वोटिंग

Lok Sabha Phase 4 Election Live Update: लोकसभा चुनाव के चौथे चरण की वोटिंग 13 मई को हुई। शाम सात बजे जारी हुए आंकड़ो के मुताबिक, चौथे चरण में 62.58 प्रतिशत वोटिंग हुई है।
लोकसभा चुनाव 2024 के चौथे चरण की वोटिंग।
लोकसभा चुनाव 2024 के चौथे चरण की वोटिंग।रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। लोकसभा चुनाव 2024 के चौथे चरण की वोटिंग 13 मई को संपन्न हुई।9 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश की 96 सीटों पर चौथे फेज़ में वोटिंग हुई। चुनाव आयोग की तरफ से शाम सात बजे जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, चौथे चरण में कुल 62.58 प्रतिशत वोटिंग हुई। चौथे चरण में भी वोटिंग के मामले में पश्चिम बंगाल सबसे आगे रहा। यहां 75.72 प्रतिशत वोटिंग हुई, वहीं सबसे कम वोटिंग जम्मू-कश्मीर में हुई। वहां आंकड़ा 40 प्रतिशत भी नहीं पहुंच पाया।

किस राज्य में कितनी वोटिंग?

आंध्र प्रदेशः 68.09

बिहारः 55.62

जम्मू-कश्मीरः 35.97

झारखंडः 65.35

मध्य प्रदेशः 68.25

महाराष्ट्र : 52.63

ओडिशा : 63.85

तेलंगाना : 61.16

उत्तर प्रदेश: 57.23

पश्चिम बंगाल : 75.72

मैदान में ये दिग्गज

1. असदुद्दीन ओवैसी

हैदराबाद में BJP से प्रत्याशी माधवी लता हैं। माधवी ने ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (Aimim) से सांसद असदुद्दीन ओवैसी को चुनौती दी है। ओवैसी अपने 5वें कार्यकाल के लिए मैदान में हैं। ओवैसी ने 2019 के चुनाव में 282,186 वोटों से जीत दर्ज की थी। उन्होंने BJP से प्रत्याशी भगवंत राव को हराया था।

2. महुआ मोइत्रा

Tmc की नेता महुआ मोइत्रा की भिड़ंत BJP की नेता अमृता रॉय से है। महुआ मोइत्रा ने 2019 चुनाव में 614,872 वोटों से जीत दर्ज की थी। उन्होंने बीजेपी नेता कल्याण चौबे को हराया था। कुछ समय पहले ही महुआ मोइत्रा को लोकसभा से निष्कासित किया गया है।

3. शत्रुघ्न सिन्हा

Tmc ने BJP नेता सुरिंदरजीत सिंह अहलूवालिया के खिलाफ शत्रुघ्न सिन्हा को प्रत्याशी बनाया है। 2019 के चुनाव में बीजेपी के बाबुल सुप्रियो ने यह सीट जीती थी। वैसे, सुप्रियो के टीएमसी में शामिल होने से सीट खाली हो गई थी।

4. अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश की कनौज सीट से पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव मौजूदा सांसद एवं बीजेपी नेता सुब्रत पाठक को चुनौती दे रहे हैं। अखिलेश 2000-2012 तक सांसद थे। साल 2012 में CM बनने के बाद कन्नौज संसदीय सीट से इस्तीफा दे दिया था। साल 2019 में यहां बीजेपी के सुब्रत पाठक ने अखिलेश की पत्नी डिंपल यादव को हराया था।

5. अधीर रंजन चौधरी

बहरामपुर सीट पर कांग्रेस, बीजेपी और टीएमसी के बीच प्रतिस्पर्धा है। पूर्व भारतीय क्रिकेटर यूसुफ पठान पश्चिम बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी और बीजेपी नेता निर्मल कुमार साहा के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं। अधीर रंजन चौधरी सांसद हैं। बहरामपुर में अधीर रंजन चौधरी ने 2009 से 2019 तक तीन बार कांग्रेस के लिए जीत हासिल की है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.