Lok Sabha Poll: क्या है विरासत टैक्स? जिस पर कांग्रेस नेता के बयान पर मचा बवाल, क्यों बना राजनीतिक मुद्दा?

New Delhi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए विरासत को अल्पसंख्यकों में बांटवे वाले बयान के बाद, सैम पित्रोदा के अमेरिकी विरासत टैक्स पर बीजेपी और कांग्रेस में हंगामा मच गया है।
PM Modi
Sam Pitroda
PM Modi Sam PitrodaRaftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। सैम पित्रोदा के अमेरिकी विरासत कानून के संदर्भ ने भारत में राजनीतिक तूफान खड़ा कर दिया है। कांग्रेस ने टिप्पणी से दूरी बना ली है जबकि भाजपा ने इसे राहुल गांधी और उनके राजनीतिक सलाहकारों के खिलाफ अपनी राजनीतिक कहानी को मजबूत करने के लिए एक चारे के रूप में इस्तेमाल किया है।

क्या होता है विरासत टैक्स?

संयुक्त राज्य अमेरिका में विरासत टैक्स एक राज्य टैक्स है जो हिरसत में पाई गई ज़मीन पर लगता है। जब कोई स्वर्गीय व्यक्ति अपने मरने के बाद $100 मिलियन के उपर की ज़मीन का कुछ हिस्सा सरकार को देना पड़ता है। वर्तमान में अमेरिका के केवल 6 राज्यों में यह कानून लागू है। जिनमें आइओवा, कैंटकी, मैरीलैंड, नेब्रास्का, न्यू जर्सी और पेंसिल्वेनिया शामिल है। इसके अलावा कई लाभार्थियों को इस टैक्स का भुगतान करने से छूट दी गई है। भले ही वे इनमें से किसी एक राज्य में रहते हों। विरासत टैक्स की दरें व्यापक रूप से भिन्न होती हैं, विरासत में मिली संपत्ति और नकद मूल्य के 1% से कम से लेकर 20% तक होती हैं।

सैम पित्रोदा के विवादित बयान के बाद मचा बवाल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए विरासत को अल्पसंख्यकों में बांटवे वाले बयान के बाद, कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा का विवादित बयान सामने आया है। उन्होंने अमेरिका का हवाला देते हुए विरासत में पाई जाने वाली जायदाद पर टैक्स लगाए जाने पर टिप्पणी कीं। उनके इस बयान से कांग्रेस ने उनसे दरकिनारा कर लिया है।

जयराम रमेश का आया बयान

कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता की टिप्पणियों से खुद को अलग कर लिया और कहा कि वे पार्टी की स्थिति को प्रतिबिंबित नहीं करते हैं। कांग्रेस के जयराम रमेश ने एक सोशल मीडिया पर कहा कि पित्रोदा की टिप्पणियों को सनसनीखेज बनाने का उद्देश्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनाव अभियान से ध्यान भटकाना है। पित्रोदा ने कहा कि उन्होंने व्यक्तिगत रूप से ये टिप्पणियां की थीं। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कांग्रेस के घोषणापत्र के बारे में प्रधानमंत्री जो झूठ फैला रहे हैं उससे ध्यान भटकाने के लिए जनता के सामने तोड़-मरोड़कर पेश किया गया।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.