कांग्रेस में बाहर आयी आपसी कलह, कन्हैया कुमार ने संदीप दीक्षित को कहा- आप तो BJP की भाषा बोल रहे हैं

Kanhaiya Kumar: दरअसल कांग्रेस हाई कमान ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली सीट से जेएनयू के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार को लोकसभा चुनाव के लिए टिकट दिया है।
Sandeep Dixit and Kanhaiya Kumar
Sandeep Dixit and Kanhaiya Kumarraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। देश में लोकसभा चुनाव 2024 के पहले चरण के चुनाव के लिए मतदान प्रक्रिया 19 अप्रैल 2024 को पूर्ण हो चुकी है। इसी बीच उत्तर-पूर्वी दिल्ली सीट को लेकर कांग्रेस में असंतोष माहौल बन गया है। दरअसल कांग्रेस हाई कमान ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली सीट से जेएनयू के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार को लोकसभा चुनाव के लिए टिकट दिया है। संदीप दीक्षित ने भी उत्तर-पूर्वी दिल्ली सीट से चुनाव लड़ने की इच्छा कांग्रेस हाई कमान में रखी थी लेकिन कांग्रेस ने कन्हैया कुमार को इस सीट से टिकट दे दिया। जिसके चलते वह नाराज थे।

कन्हैया कुमार को खरी खोटी सुनाने लगते हैं

कन्हैया कुमार 19 अप्रैल 2024 को दिल्ली के प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में परिचय बैठक में शामिल होने आये थे। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में क्षेत्र के बड़े नेता और कन्हैया कुमार के बीच 19 अप्रैल 2024 की शाम को परिचय बैठक चल रही थी। कांग्रेस ने इस बैठक को आगे की चुनावी रणनीति बनाने के लिए बुलाई थी। तभी कुछ देर बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संदीप दीक्षित भी इस परिचय बैठक में पहुंचते है। वह मंच के सामने ही पीछे की सीट में बैठ जाते हैं। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली का ध्यान संदीप दीक्षित पर जाता है तो वह अपने वरिष्ठ नेता को आगे आने का आग्रह करते हैं। संदीप दीक्षित उन्हें आगे आने के लिए मना कर देते हैं। लेकिन कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली उन्हें आगे आने के लिए फिर से आग्रह करते हैं। संदीप दीक्षित जैसे ही आगे आने लगते है तो कन्हैया कुमार शिष्टाचार से खड़े होकर अपनी सीट उन्हें बैठने के लिए दे देते हैं। जिसको लेकर संदीप दीक्षित भड़क जाते हैं और कन्हैया कुमार को खरी खोटी सुनाने लगते हैं।

प्रदेश कार्यालय में हुई इस हंगामे की खबर कांग्रेस हाई कमान तक पहुंच गयी है

संदीप दीक्षित का गुस्सा इतना भला बुरा कहने पर भी कम नहीं हुआ। वह कन्हैया कुमार को बाहरी कह देते हैं। यह सुनकर कन्हैया कुमार भी संदीप दीक्षित को कह देते हैं कि आप तो भाजपा की भाषा बोल रहे हैं। यह सुनकर संदीप दीक्षित का गुस्सा और बढ़ जाता है। इसी बीच कांग्रेस के अन्य वरिष्ठ नेता संदीप दीक्षित को शांत करने की कोशिश करते हैं। मगर उनका गुस्सा फिर भी कम नहीं होता है। संदीप दीक्षित दीपक बाबरिया पर भी अपना गुस्सा उतार देते हैं। वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली और अन्य नेता चुपचाप बैठकर यह सब देखते रहते है। जानकारी के अनुसार प्रदेश कार्यालय में हुई इस हंगामे की खबर कांग्रेस हाई कमान तक पहुंच गयी है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.