लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने चला बड़ा दांव, भाजपा के 5 किलो मुफ्त राशन की जगह 10 किलो अनाज देने का किया वादा

Loksabha Election: उनके अनुसार जाति आधारित गणना करा करके ही इन वर्गो का भला किया जा सकेगा।
Mallikarjun Khadge and Akhilesh Yadav
Mallikarjun Khadge and Akhilesh Yadavraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। मल्लिकार्जुन खड़गे ने 15 मई 2024 को कांग्रेस और समाजवादी पार्टी की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में लखनऊ में मीडिया को संबोधित करते हुए कहा है कि 4 जून 2024 को इंडिया गठबंधन की सरकार आने के बाद गरीबों को पांच किलों की जगह 10 किलो अनाज दिया जायेगा। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने जाति आधारित गणना के मुद्दे को उठाते हुए कहा कि यह वंचित समाज, पिछड़ों व आदिवासियों को उनका अधिकार दिलाने के लिए जरुरी है। उनके अनुसार जाति आधारित गणना करा करके ही इन वर्गो का भला किया जा सकेगा।

यह चुनाव देश का भविष्य बनाने वाला चुनाव होगा

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कांग्रेस और समाजवादी पार्टी की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में मीडिया को संबोधित करते हुए बड़ा दावा किया है कि भाजपा कितना भी जोर लगा ले मगर 200 से अधिक सीटों पर जीत दर्ज नहीं कर पायेगी। उन्होंने कहा कि यह चुनाव देश का भविष्य बनाने वाला चुनाव होगा। मल्लिकार्जुन खड़गे ने आगे कहा कि अगर बीजेपी की सरकार बनती है तो संविधान को बदलकर वंचित समाज व पिछड़ों के आरक्षण को खत्म कर दिया जायेगा। मल्लिकार्जुन खड़गे ने आगे कहा कि इसी कारण कांग्रेस पिछड़ों, गरीबों व आदिवासियों की लड़ाई को लड़ रही है। ताकि आरक्षण को समाप्त न किया जा सके।

इस बार विचारधारा की लड़ाई है

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत का उदाहरण देते हुए कहा कि उन्होंने(मोहन भागवत) खुद कहा था कि संविधान बदलने के लिए इस बार तीन तिहाई बहुमत ही चाहिए। मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि इस बार विचारधारा की लड़ाई है। जहां कांग्रेस गरीबों के साथ है तो वहीं बीजेपी अमीरों की विचारधारा लेकर आगे बढ़ रही है। मल्लिकार्जुन खड़गे के साथ समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव भी इस संयुक्त कॉन्फ्रेंस में शामिल थे। उन्होंने भी भाजपा पर निशाना साधा। अखिलेश यादव ने दावा किया कि बीजेपी 140 से ज्यादा सीटें नहीं जीत पायेगी, जबकि उत्तर प्रदेश में गठबंधन 70 से ज्यादा सीटें जीतने जा रही है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.