विरासत टैक्स मामले पर पीएम मोदी की तीखी आलोचना के बाद राहुल गांधी का पलटवार, कहा- मैंने ऐसा कुछ नहीं कहा...

Loksabha Election: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी जिस बयान की बात कर रहे हैं। वैसा कोई बयान मैने नहीं दिया है।
Rahul Gandhi
Rahul Gandhiraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। विरासत टैक्स के मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर बड़ा वार किया था। जिसको लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी जिस बयान की बात कर रहे हैं। वैसा कोई बयान मैने नहीं दिया है।

राहुल गांधी ने नई दिल्ली में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा

राहुल गांधी ने नई दिल्ली में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि मैने विरासत टैक्स को लेकर अभी तक यह नहीं कहा है कि हम कार्रवाई करेंगे। राहुल गांधी ने आगे कहा कि वह सिर्फ यह कह रहे हैं कि हम यह जानें कि कितना अन्याय हुआ है। इसके साथ ही राहुल गांधी ने कहा कि अगर कांग्रेस और इंडिया गठबंधन मिलकर चुनाव जीतते हैं तो वे राष्ट्रीय जाति सर्वेक्षण योजना पर काम करेंगे। इसको लेकर राहुल गांधी ने कहा कि इस प्रैक्टिस में एक आर्थिक और संस्थागत रिपोर्ट को शामिल किया जायेगा। जिससे यह समझने में मदद मिलेगी कि समाज के अलग अलग वर्गो का विकास किस तरह हुआ और सभी वर्गो के लिए सामाजिक आर्थिक न्याय और समानता सुनिश्चित करने के लिए क्या जरुरी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सैम पित्रोदा के बयान को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा था

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सैम पित्रोदा के बयान को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा था कि अब कांग्रेस विरासत टैक्स लगाएगी। यहां विरासत का मतलब माता पिता से अपने बच्चों को मिलने वाली संपति से है। पीएम मोदी ने कहा था कि माता पिता अपनी कड़ी मेहनत से संपत्ति जोड़ते हैं। वहीं कांग्रेस सरकार का पंजा आपसे उसे छीन लेगा।

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर बड़ा निशाना साधते हुए कहा था कि कांग्रेस का यह मंत्र है कि कांग्रेस की लूट जिंदगी के साथ भी और जिंदगी के बाद भी। पीएम ने कहा कि जब तक आप लोग जीवित रहेंगे, कांग्रेस आपको अधिक टैक्स के बोझ से मारेगी और जब आप जीवित नहीं रहोगे तो कांग्रेस आप पर इनहेरिटेन्स टैक्स का बोझ लाद देगी। पीएम ने आगे कहा कि कांग्रेस के जिन लोगों ने पूरी पार्टी पैतृक संपत्ति मानकर अपने बच्चों को दे दी, वे ही लोग नहीं चाहते हैं कि आम भारतीय अपने बच्चों को अपनी संपत्ति विरासत के रूप में दे।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.