Yoga For Immunity: बारिश के मौसम में जरूर करें योग-प्राणायाम, बढ़ेगी इम्यूनिटी

अगर आप बारिश के दौरान होने वाली कई खतरनाक बीमारियों से बचना चाहते हैं, तो आपको डेली लाइफ में योग-प्राणायाम शामिल करना चाहिए।
yoga
yoga social media
yoga
yoga social media

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। बरसात के मौसम में होने वाली बीमारियों से बचने के लिए जहां आहार का विशेष ध्यान रखना होता है वहीं आपको योग से भी काफी लाभ हो सकता है। एक्सपर्ट्स की माने तो बरसात के शुरू होते ही बीमारियों का सिलसिला शुरू हो जाता है। ऐसे में अगर आप, योग को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनते हैं तो बरसाती बीमारियों से बचने में यह एक प्रभावी समाधान साबित हो सकता है। आइए इस विषय में विस्तार से जानते हैं।

boosts immunity
boosts immunitysocial media

योग से बढ़ती है इम्यूनिटी

अक्सर जब कभी बारिश होती है तो मौसम में ठंडक आ जाती है और लोग बीमार पड़ने लगते हैं। ऐसे में अगर आप बरसाती इन्फेक्शन से बचना चाहते हैं तो आपको खासकर कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना होगा। अगर आप ऐसे समय में उन योग मुद्राओं का सहारा लेते हैं, जो इम्यूनिटी पर असर डालती हैं, तो ये आपके लिए बेहद फायदेमंद हो सकता है। दरअसल इम्यूनिटी बढ़ाने वाली ऐसी यौगिक मुद्राएं शरीर के लिए अत्यधिक लाभ प्रदान करती हैं। अगर आप अपनी इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए कुछ योगासनों का सहारा लेना चाहते हैं तो भुजंगासन (कोबरा पोज), मत्स्यासन (मछली पोज), और सर्वांगासन (शोल्डर स्टैंड) ऐसे विशेष योग पोस्चर हैं, जिनकी रेगुलर प्रैक्टिस से आप अपनी  प्रतिरक्षा प्रणाली  यानिकि इम्यूनिटी को मजबूत करने और थाइमस ग्रंथि को बढ़ावा देने में सफल हो सकते हैं।

increases energy levels
increases energy levels social media

योग से एनर्जी को बढ़ावा

मानसून के दौरान लोगों को कई बार एनर्जी की कमी महसूस होती है। दरअसल, जब कभी आप मानसून के दौरान थकान महसूस करें तो आप वीरभद्रासन (वॉरियर पोज), अधोमुख शवासन (डाउनवर्ड-फेसिंग डॉग), सेतु बंधासन (ब्रिज पोज), और सूर्य नमस्कार (सूर्य नमस्कार) का दैनिक अभ्यास कर सकते हैं। इनको नित्य रूप से करने से न सिर्फ आपकी ताकत बढ़ेगी, बल्कि साथ ही आपके ब्लड फ्लो को भी चुस्त कर देगा।

Yog asana
Yog asana social media

प्राणायाम से होगा फायदा

एक्सपर्ट्स बताते हैं कि मानसून के मौसम में प्राणायाम की रेगुलर प्रैक्टिस से भी आप कई तरह के फायदे उठा सकते हैं। दरअसल अगर आप आरामदायक और आरामदेह एनवायरनमेंट में नित्य प्राणायाम करेंगे तो ये आपकी होल बॉडी हेल्थ को लाभ करता है। प्राणायाम के लाभों को डबल करने के लिए गहरी, धीमी सांसों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

anulom vilom
anulom vilom social media

अनुलोम विलोम से मिलेगी ऊर्जा

अनुलोम-विलोम भी एक बेहतरीन यौगिक क्रिया है जिसकी नित्य प्रैक्टिस से आप अपने ऊर्जा चैनलों का संतुलन और शुद्ध कर सकते हैं। इसके अलावा यह आपके फेफड़ों की क्षमता को बढ़ाने का भी काम करता है।अनुलोम विलोम से आपकी श्वसन क्षमता यानी कि ब्रीथिंग कैपेसिटी को मजबूत करता है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.