Get Rid of Back Pain: कमर के दर्द को न करें अनदेखा, ऐसे करे दर्द को ठीक

घंटों ऑफिस की कुर्सी पर बैठना हो, खड़े होकर घर का काम करना हो या दौड़-भाग का कोई काम हो, कमर दर्द या पीठ दर्द की शिकायत हो सकती है। किसी को यह दर्द तेज, तो किसी को हल्का हो सकता है।
back pain
back painsocial media
medicines
medicines social media

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। भारत में लगभग 60 प्रतिशत लोग अपने जीवन में कभी न कभी पीठ के निचले हिस्से में दर्द से पीड़ित होते हैं. हो सकता है घर की सफाई करते समय या कोई फिजिकल एक्टिविटी करते समय पीठ में झटका लग गया हो. या फिर गठिया एवं एंकिलोसिंग स्पॉन्डिलाइटिस जैसी कोई पुरानी स्थिति के कारण पीठ दर्द हो रहा हो. तीव्र पीठ दर्द के एपिसोड का इलाज ओटीसी नॉनस्टेरॉइडल एंटी-इंफ्लेमेटरी दवाओं (एनएसएआईडी) जैसे नेप्रोक्सन और इबुप्रोफेन द्वारा किया जा सकता है। एसिटोमोफिन भी लिया जा सकता है, हालांकि यह एनएसएआईडी नहीं है और इसलिए सूजन से नहीं लड़ता है। पेट में अल्सर या किडनी की समस्या वाले लोगों को इबुप्रोफेन लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए।

Massage
Massagesocial media

मालिश और मलहम: मलहम पीठ दर्द के लिए एक प्रभावी उपाय हैं। इन मलहमों में आमतौर पर लिडोकेन और इबुप्रोफेन जैसे तत्व होते हैं। एक अध्ययन में पाया गया कि 10 सप्ताह की अवधि में एक साप्ताहिक मालिश से पुराने पीठ दर्द से पीड़ित लोगों के दर्द और कार्यप्रणाली में सुधार हुआ।आपकी पीठ पर दर्द वाले क्षेत्रों पर नियमित रूप से बर्फ लगाने से चोट से होने वाले दर्द और सूजन को कम करने में मदद मिल सकती है। इसे दिन में कई बार हर बार 20 मिनट तक आज़माएँ।

better sleep
better sleepsocial media

पर्याप्त नींद -जब आपको पीठ दर्द हो तो सोना मुश्किल हो सकता है। यह एक दुष्चक्र हो सकता है क्योंकि जब आप पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं, तो आपकी पीठ का दर्द बदतर हो सकता है। अपने घुटनों के नीचे तकिया रखकर अपनी पीठ के बल सोएं और अपनी रीढ़ को तटस्थ रखें। अतिरिक्त समर्थन के लिए अपनी पीठ के नीचे एक छोटा, लपेटा हुआ तौलिया रखें। यदि आप करवट लेकर सोते हैं, तो अपने पैरों को अपनी छाती की ओर थोड़ा ऊपर खींचें और अपने पैरों के बीच एक तकिया रखें। यदि आप चाहें तो पूरी लंबाई वाले बॉडी तकिए का उपयोग करें।

steroid
steroidsocial media

स्टेरॉयड इंजेक्शन: इंजेक्शन पर विचार तब किया जाता है जब अन्य सभी विकल्प पीठ दर्द से राहत देने में विफल हो जाते हैं। कमर दर्द या पीठ के निचले हिस्से में दर्द (लोअर बैक पेन) से निजात के लिए अब मरीजों को स्टीरॉयड्स की सुई लेने और उसके साइड इफेक्ट झेलने की जरूरत नहीं है क्योंकि अब इसका प्रभावी और सुरक्षित विकल्प खोज लिया गया है। एक चिकित्सक एपिड्यूरल स्पेस (रीढ़ की हड्डी के आस-पास की जगह) में कोर्टिसोन, सूजनरोधी दवा इंजेक्ट करता है। इंजेक्शन तंत्रिका जड़ों के आसपास सूजन को सीमित करके काम करता है। कोर्टिसोन इंजेक्शन का एक बड़ा दोष यह है कि यह केवल कुछ महीनों के लिए दर्द से राहत देता है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.