Face Masks Mandatory: कोविड के नए वैरिएंट JN.1 का पहला केस केरल में, केंद्र सरकार की एडवाइजरी आप भी जरूर जानें

COVID 19 Latest News: केरल में ओमिक्रॉन के सब-वेरिएंट का नया मामला सामने आया है। नए जेएन.1 सब-वेरिएंट का पहला केस सामने आने के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को एडवाजरी जारी की है।
Face Masks Mandatory: कोविड के नए वैरिएंट JN.1 का पहला केस केरल में, केंद्र सरकार की एडवाइजरी आप भी जरूर जानें

नई दिल्ली, रफ्तार। केरल में ओमिक्रॉन के सब-वेरिएंट का नया केस आया है। नए जेएन.1 सब-वेरिएंट का पहला केस मिलने के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने एडवाजरी जारी की है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव सुधांश पंत ने राज्‍य सरकारों को पत्र भेजकर कोविड की स्थिति पर निगरानी बनाए रखने को कहा। उन्होंने कहा-भारत में मौसम की स्थिति और अन्य सामान्य रोगों के प्रसार के साथ सार्वजनिक स्वास्थ्य में चुनौतियों से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए गति अहम है। राज्यों को त्योहारी सीजन के मद्देनजर बीमारी के फैलाव में वृद्धि के जोखिम को कम करने को जरूरी सार्वजनिक स्वास्थ्य उपाय और अन्य व्यवस्थाएं करने का निर्देश दिया।

राज्यों को सलाह

सभी राज्य के जिलों में कोविड-19 जांच निर्देशों के तहत पर्याप्त जांच सुनिश्चित करने को कहा। साथ ही आरटी-पीसीआर और एंटीजन जांच की अनुशंसित हिस्सेदारी बनाए रखने का निर्देश दिया। इन्हें पता लगाने के लिए एकीकृत स्वास्थ्य सूचना मंच (आईएचआईपी ) पोर्टल समेत स्वास्थ्य सुविधाओं में नियमित आधार पर जिलेवार इन्फ्लूएंजा जैसी बीमारी (आईएलआई) और गंभीर व श्‍वसन बीमारी (एसएआरआई) मामलों की निगरानी और रिपोर्ट करने को भी कहा।

नया सब वेरिएंट है क्या और कहां मिला था ?

जेएन.1, बीए.2.86 ओमिक्रॉन वेरिएंट का एक उप वंश है। यह पहली बार अगस्त में लक्जमबर्ग में मिला था। BA.2.86, यह 'पिरोला' संस्करण के रूप में भी चर्चित है। यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी ) के मुताबिक जेएन.1, बीए.2.86 के समान वंश का भाग है। इसमें एक अतिरिक्त स्पाइक उत्परिवर्तन –एल455एस उत्परिवर्तन है, जिसमें प्रतिरक्षा-विरोधी गुण हैं।

क्या हैं लक्षण?

जेएन.1 सब-वेरिएंट के लक्षण अन्य वेरिएंट की तरह ही हैं। विशेषज्ञ बताते हैं कि भारत में ज्यादातर लोग कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके हैं, ऐसे में गंभीर बीमारी का खतरा कम है। हालांकि बुजुर्गों और बच्चों को अधिक सतर्क रहने की जरूरत है।

इसकी दवा?

विशेषज्ञ बताते हैं कि डॉक्टर कोरोना की जो दवाएं चला रहे हैं, वही नए जेएन.1 सब-वेरि एंट में भी कारगर हैं। कोरोना वैक्सीन का अपडेट वर्जन भी, पहले के मुकाबले कहीं ज्यादा कारगर है।

अब तक कितने केस मिले?

देश फिर कोरोना के केसे में उछाल दिख रहा है। कोविड के 1828 मामले आए हैं। केरल में मामलों की संख्या सबसे अधिक 1634 है।

WHO ने क्या कहा?

विश्‍व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोरोना के नए सब वैरिएंट जेएन.1 को लेकर चेतावनी जारी की है। डब्ल्यूएचओ में कोविड-19 तकनीकी प्रमुख मारियावान केरखोव ने एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर पोस्ट कर कहा-मौजूदा कोविड केसों में से लगभग 68 फीसदी एक्सबीबी सबलाइनेज और जेएन.1 जैसे अन्य समूहों के हैं। ऐसे में सभी देशों को सतर्कता बरतनी चाहिए।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.