सर्दियों में हो गया है कोल्ड डायरिया तो इन तरीकों से पा सकते हैं निजात

सर्दियों के मौसम में छोटे बच्चों को कई बार उल्टी दस्त शुरू हो जाते हैं।  इसे सामान्य परेशानी न समझें।  यह कोल्ड डायरिया के लक्षण हो सकते हैं।
Cold Dayriya, कोल्ड डायरिया
Cold Dayriya, कोल्ड डायरियाSocial media

ठंड के मौसम में कोल्ड डायरिया होने का डर बच्चों में लगातार बना रहता है। सर्दियों में होने वाला डायरिया सामान्य से  अलग होता है। ठंड में कोल्ड डायरिया बच्चों को सबसे अधिक शिकार बनाता है। सर्दियों में बच्चे सबसे ज्यादा कोल्ड डायरिया के ही शिकार होते हैं।  इन तरीकों से आप अपने बच्चे को कोल्ड डायरिया से बचा सकते हैं।

क्या होता है कोल्ड डायरिया

कोल्ड डायरिया मूल रूप से ठंड में वायरस अटैक से होता है। इसके अलावा ठंड में जोयारोट्रो, इंट्रो वायरस, क्लैपसेला, इकोलाई जैसे वायरस के प्रवेश से करने के बाद बच्चों में पेचिश की शिकायत शुरू हो जाती है।  वहीं, ठंड में बच्चे पानी पीने से कतराते हैं। जिसकी वजह से शरीर में पानी की कमी हो जाती है। और बच्चों को कोल्ड डायरिया हो जाता है।

कोल्ड डायरिया होने पर क्या बचाव करें

कोल्ड डायरिया का खतरा आमतौर पर बच्चों को ज्यादा रहता है।  3 से 5 साल के बच्चों में यह समस्या सर्दियों के मौसम में खूब देखने को मिलती है।  इससे बचने के लिए बच्चों को गुनगुना पानी पिलाएं। कोल्ड डायरिया इम्यून सिस्टम को कमजोर कर देता है।  ऐसे में बच्चों को ऐसे फूड देने चाहिए जिनसे इम्युनिटी बढ़ती है। इसके अलावा बाहर की चीजों से परहेज करना चाहिए।

Related Stories

No stories found.