दिहाड़ी करके घर चलाने मजबूर हुए पद्मश्री से सम्मानित मोगुलैया, बताई पूरी कहानी

Darshanam Mogilaiah: उनकी आर्थिक स्थिति काफी खराब हो चुकी है। सभी जानना चाहते हैं कि उनके साथ ऐसा क्या हुआ?
Darshanam Mogilaiah
Darshanam Mogilaiahraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। दर्शनम मोगुलैया किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं। वे दुर्लभ म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट किन्नरा को रीइन्वेट करने के लिए प्रसिद्ध हैं। उन्हें वर्ष 2022 में पद्म श्री अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया था। दर्शनम मोगुलैया को तेलंगाना सरकार ने प्रदेश का नाम रोशन करने के लिए इनाम के रूप में 1 करोड़ रुपये दिए थे। अब उनको मजदूरी करते हुए देखा गया है। उनकी आर्थिक स्थिति काफी खराब हो चुकी है। सभी जानना चाहते हैं कि उनके साथ ऐसा क्या हुआ?

उन्हें मजदूरी करनी पड़ रही है

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मोगुलैया आजकल हैदराबदा में एक कंस्ट्रक्शन साइट पर दिहाड़ी मजदुर के रूप में मजदूरी कर रहे हैं। उनकी उम्र 73 वर्ष हो गई है। उन्हें इनाम में जो भी पैसा मिला था, वह उनसे उनके परिवार की जरूरतों में खर्च हो गया। उनका इतना बुरा हाल हो चूका है कि उनको दो वक्त की रोटी के लिए भी पैसे नहीं बचे थे। जिसके कारण उन्हें मजदूरी करनी पड़ रही है।

किसी ने भी उन्हें काम नहीं दिया

जानकारी के अनुसार दर्शनम मोगुलैया के एक बेटे को दौरे पड़ते हैं। दर्शनम मोगुलैया की खुद की भी दवाएं चल रही हैं। उन्हें अपने और बेटे की दवाओं में हर महीने 7000 रुपये तक का खर्च उठाना पड़ता है। दर्शनम मोगुलैया को अपनी मेडिकल जांच भी कराते रहनी पड़ती है। इसके अलावा उनके और भी खर्च होते हैं। दर्शनम मोगुलैया का कहना है कि उन्होंने काम के लिए कई जानकार लोगों से संपर्क किया था। लेकिन किसी ने भी उन्हें काम नहीं दिया। यह बात अलग है कि लोगों ने उनको हमदर्दी दिखाई और उनकी खूब तारीफ भी की। किसी ने उन्हें थोड़े पैसे भी दिए। मगर किसी ने भी काम नहीं दिया। दर्शनम मोगुलैया ने बताया कि तेलंगाना सरकार से उन्हें जो आर्थिक मदद इनाम के तौर पर मिली थी। वह उनसे उनके बच्चों की शादी में खर्च हो गया। उन्होंने हैदराबाद में एक प्लॉट भी खरीदा था। जिस पर वह अपना घर बना रहे थे। लेकिन उन्हें पैसों की तंगी के कारण अपने घर का काम बीच में ही रोकना पड़ा।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.