अनोखी वास्तुकला और अद्वितीय मंदिरों का मिश्रण है ये पांच खूबसूरत पर्यटन स्थल, जाते ही मनमोहित हो जाएंगे

खजुराहो अपनी अनोखी वास्तुकला और अदिव्तीय मंदिरों का वह मिश्रण है। जो पर्यटकों को खूब लुभाता है। अगर आप खजुराहो में घूमने का प्लान बना रहे हैं। परिवार या दोस्तों संग इन खूबसूरत जगहों पर जा सकते हैं।
temple
temple Social Media

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क: खजुराहो देश की सबसे प्रसिद्ध लोकप्रिय गिने जाने वाले पर्यटक स्थलों में शुमार किया जाता है। खजुराहो की स्थापना चंदेल राजाओं ने 800 से 1300 के मध्य किया था। जिन्हें सुंदर स्थापत्य के साथ-साथ स्मारकों और मंदिरों की प्रति उनके योगदानों के लिए जाना जाता है। वर्तमान में खजुराहो अपने खूबसूरत कला निर्माण की वजह से विश्व धरोहर स्थल में शामिल है।  और दुनियाभर के पर्यटकों के बीच आकर्षण का केंद्र बना रहता है। इस जगह पर देखने समझने और घूमने के लिए काफी कुछ है।  अगर आप खजुराहो आने का विचार बना रहे हैं तो आप इन जगहों पर जरुर विजिट करें।

शांतिनाथ मंदिर

शांतिनाथ मंदिर आधुनिक समय की संरचना है। जो कि बहुत से मंदिर और तीर्थ स्थान में से एक है। इस मंदिर में मुख्य जैन धर्म के आदर्श भगवान शांतिनाथ जी की प्रतिमा है। जो की 15 फीट ऊंची है l इस मंदिर का निर्माण 1536 में हुआ था। वैसे तो  खजुराहो के मंदिर बहुत से प्रसिद्ध है लेकिन शांतिनाथ मंदिर कुछ खास है। क्योंकि इसकी अद्भुत संरचना इसे विख्यात बनाती है। यही वजह है कि भारी संख्या में लोग इस मंदिर को देखने पहुंचते हैं।

विश्वनाथ मंदिर

विश्वनाथ मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। जिन्हें विश्वनाथ यानी ब्रह्मांड के भगवान के नाम से भी जाना जाता है। इसकी स्थापत्य शैली पुराने लक्ष्मण मंदिर और कई और नए कंदरिया महादेव मंदिर के समान है। मंदिर में विभिन्न देवताओं प्रेम करने वाले जोड़ों और पौराणिक जीवन की मूर्तियां हैं। जो देखने में काफी अद्भुत और अनोखी लगते हैं। इसकी अद्भुत भव्यता को देखने के लिए हर साल पर्यटक यहां पहुंचते है। और इसे देखकर मंत्रमुग्ध हो जाते है।

देवी जगदंबी मंदिर

देवी जगदंबी मंदिर को जगदंबिका मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। यह अच्छा मंदिर चंदेल शासको द्वारा दसवीं शताब्दी से 12वीं शताब्दी के बीच बनाया गया था। यह  खजुराहो मंदिर में 25 मंदिरों के समूह में से एक है। जिसे विश्व धरोहर में शामिल किया गया है। मंदिर में देवी पार्वती की विशाल मूर्ति है। इस मंदिर को देखने के लिए लाखों की संख्या में सैलानी आते हैं। 

पन्ना राष्ट्रीय उद्यान

खजुराहो के मंदिरों की अद्भुत नजारा देखने के बाद आप पन्ना राष्ट्रीय उद्यान में घूमने के लिए निकल सकते हैं। राष्ट्रीय उद्यान खजुराहो शहर से 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। जैव विविधता और अनेक प्राकृतिक वनस्पतियों से भरपूर राष्ट्रीय उद्यान प्राकृतिक प्रेमियों के लिए काफी अच्छा पर्यटन स्थल है। यह  उद्यान अनेक प्रजातियों का निवास स्थल है। जहां पर जीव जंतु अपने परिवेश के अनुसार निवास करते हैं। पन्ना राष्ट्रीय उद्यान में जंगल सफारी का आनंद आप ले सकते हैं।

कालिंजर और अजयगढ़ किला

खजुराहो के मंदिरों में लगभग 100 किलोमीटर की दूरी पर विंध्य पर्वत श्रृंखला पर कालिंजर और रायगढ़ किला स्थित है। खजुराहो भ्रमण करने के बाद इन किलो को भी आप देख सकते हैं।  मध्य प्रदेश में यह दोनों किले काफी प्रसिद्ध है।  108 फीट ऊंचा कालिंजर का किला अपने पत्थर गुफाओं के लिए प्रसिद्ध है । किलों में कीमती पत्थर आकर्षण का केंद्र रहते हैं। इसके अलावा खजुराहो शहर में 80 किलोमीटर की दूरी पर जयगढ़ किला स्थित है। किले के अंदर पलका झील और जैन मंदिर का भी आकर्षण केंद्र है। जहां आपको एक बार जरूर विजिट करना चाहिए।

Related Stories

No stories found.