Surya Grahan: इस दिन लगेगा सात साल का सबसे बड़ा सूर्य ग्रहण, जानिए भारत में सूतक रहेगा या नहीं?

सूर्य ग्रहण के दौरान जब चंद्रमा पूरी तरह से सूर्य को ढक लेता है, तो यह पृथ्वी पर एक छाया डालता है, जिसे 'समग्रता का मार्ग' कहा जाता है। वहीं इस साल का पहला सूर्य ग्रहण अमेरिका में दिखाई देगा।
Surya Grahan
Surya Grahanwww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क। साल 2024 का पहला सूर्य ग्रहण 8 अप्रैल को होने वाला है। यह ग्रहण साल का सबसे पहला होने के साथ-साथ सबसे बड़ा सूर्य ग्रहण माना जाएगा। इस साल का यह पहला सूर्य ग्रहण अमेरिका में दिखाई देखा। आप को बता दे की 2017 के बाद यह सबसे देर तक दिखाई देने वाला ग्रहण बनेगा।

भारत में सूर्य ग्रहण का होता है खास महत्त्व

2017 जो सूर्य ग्रहण अमेरिका में दिखा था वह 2 मिनट 42 सेकेंड तक था। लेकिन इस साल जो ग्रहण लगेगा उसकी समय सीमा 4 मिनट 28 सेकेंड की होगी। वहीं अमेरिका से निकलने के बाद इसका प्रभाव कनाडा में होगा जोकि 3 मिनट 28 सेकेंड का होगा। साल का यह सूर्य ग्रहण 8 अप्रैल को होगा।आप को बता दे की भारत में सूर्य ग्रहण का बहुत महत्व होता है। अगर यह दिखाई भी न दे और इसका केवल सूतक का प्रभाव ही भारत में पड़े। तब भी इसका सूतक काल मानते है। और इसके करण उस समय किसी भी प्रकार की पूजा पाठ नहीं की जाती। यहां तक की जितनी देर तक ग्रहण का प्रभाव पड़ता रहता है। उस समय कोई व्यक्ति घर के बाहर भी नहीं जाता। और ग्रहण के बाद घर में गंगाजल से छिड़काओ करके घर को शुद्ध करते हैं।

अमेरिका के साथ इन देशो में भी दिखेंगा सूर्य ग्रहण

सात साल बाद लग रहा यह साल 2024 का पहला सूर्यग्रहण सबसे पहले मेक्सिकों में प्रशांत तट पर सुबह 11 बजकर 7 मिनट पर दिखेगा। उसके बाद अमेरिका के साथ साथ पश्चिमी एशिया, दक्षिण-पश्चिम यूरोप, ऑस्ट्रेलिया, अफ्रीका, अटलांटिक महासागर, उत्तरी धुव्र, दक्षिणी धुव्र और अफ्रीका में नजर आएगा। आप को बता दे की यह ग्रहण भारत में नहीं दिखेगा। इसलिए सूतक काल भी नहीं माना जाएगा।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.