Ravan Mantra : जानिए धन प्राप्ति के लिए क्यों करते हैं लंकापति रावण के मंत्रों का जाप

हमारे वेद और पुराणों में मंत्रों से जुड़े लाभ के बारे में बताया गया है। जिसका उपयोग करके हम जीवन में होने वाली कई परेशानियों को कम कर सकते हैं।
Mantra of Lankapati Ravana
Mantra of Lankapati Ravanawww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क 8 January 2024 : पूजा पाठ के अलावा मंत्र तो हमारे जीवन में विशेष महत्व है, बिना मंत्र के कोई भी पूजा पाठ सफल नहीं होती। हर भगवान के अलग-अलग प्रकार के मंत्र होते हैं। और मंत्रों के जाप से हम भगवान को प्रसन्न करके अपने जीवन को सफल बनाते हैं। रामायण की कहानी तो सब लोगों ने सुनी होगी और राम भगवान घर-घर में बसते हैं और हर जगह उनकी पूजा की जाती है। लेकिन क्या आपको पता है कि रावण की भी पूजा होती है और रावण के ऐसे कई चमत्कारी मंत्र हैं। इन मंत्रो का इस्तेमाल करके आप अपने जीवन को कष्ट मुक्त बना सकते हैं।

रावण की पूजा का महत्व और मंत्र

रावण भगवान महादेव के परम भक्त थे महादेव द्वारा रावण ने कई सिद्धि प्राप्त की थी। वहीं भगवान ने खुश होकर रावण को कई वरदान भी दिया था। जिसके द्वारा रावण को वेदों-पुराणों और शास्त्रों का महा ज्ञाता भी था। जिसके कारण दक्षिण भारत के कुछ स्थानों पर रावण को पूजा जाता है। वे रावण दहन को दुर्गुणों का दहन मानते हैं। रावण ने कई मंत्रों का निर्माण भी किया था। और रावण के इन चमत्कारी मंत्रों के जाप से जीवन में कुछ भी पाया जा सकता है क्योंकि यह सिद्ध मंत्र हैं।

जीवन में सफलता पाने के लिए

ॐ हीं श्रीं क्लीं महालक्ष्मी, महासरस्वती ममगृहे आगच्छ-आगच्छ हीं नमः' इस मंत्र के जाप से आपको नौकरी तथा जीवन में कोई भी कार्य में सफलता प्राप्त होती है।

धन प्राप्ति के लिए रावण का मंत्र

'ऊँ यक्षाय कुबेराय वैश्रवाणाय, धन धन्याधिपतये धन धान्य समृद्धि मे देहि दापय स्वाहा।'इस मंत्र के जाप से व्यक्ति को धन की प्राप्ति होती है और धन में वृद्धि होती है।

आर्थिक तंगी अथवा मनोकामना पूर्ति के लिए

'ऊँ सरस्वती ईश्वरी भगवती माता क्रां क्लीं, श्रीं श्रीं मम धनं देहि फट् स्वाहा'

ऊँ क्लीं ह्रीं ऐं ओं श्रीं महा यक्षिण्ये सर्वैश्वर्यप्रदात्र्यै नमः। इमिमन्त्रस्य च जप सहस्त्रस्य च सम्मितम्। कुर्यात् बिल्वसमारुढो मासमात्रमतन्द्रितः।।'

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.