Mangalwar Mantra : मंगलवार के दिन हनुमान जी की पूजा करने का क्या है राज, जानिए नियम और मंत्र

ऐसी मान्यताएं हैं कि मंगलवार के दिन हनुमान जी की पूजा अर्चना की जाती है लेकिन क्या हम जानते हैं कि आखिर क्यों मंगलवार को ही हनुमान जी की पूजा होती है।
Mangalwar Mantra of Hanuman
Mangalwar Mantra of Hanuman www.raftaar.in

नई दिल्ली,रफ्तार डेस्क 26 December 2023 : मंगलवार का दिन हनुमान जी का माना जाता है। ऐसा कहते हैं कि जो व्यक्ति एक दिन भगवान की पूजा करता है और सच्चे मन से व्रत रखता है उसकी सभी मनोकामना पूरी होती है। कई बार दिमाग में यह सवाल आता है कि आखिर मंगलवार के दिन ही क्यों उनकी पूजा होती है। अगर आपके मन में भी कभी ये सवाल आया है तो जानें कि आखिर ऐसा क्यों है और हनुमान जी की पूजा किस तरह की जानी चाहिए।

इस कारण मंगलवार को करते हैं हनुमान जी की पूजा

ज्योतिष और पंचांग के अनुसार मंगलवार के दिन ही हनुमानजी का जन्म हुआ था। इसी वजह से इस दिन को उनकी पूजा के लिए समर्पित कर दिया गया।धार्मिक मान्यताओं के अनुसार कठोर नियम पूर्वक हनुमान जी की पूजा करने से वह सारी मनोकामना पूरी करते हैं और आपके जीवन से सारे कष्ट दूर हो जाते हैं। यही वजह है कि हनुमानजी का एक नाम संकटमोचन भी पड़ा। हनुमान जी को मंगल ग्रह का नियंत्रक माना जाता है इस वजह से भी मंगलवार को हनुमान जी की पूजा की जाती है। कहते हैं कि इस दिन हनुमान चालीसा अथवा सुंदरकांड का भी पाठ करें। ऐसा करने से आपको विशेष फल प्राप्त होता है।

पूजा करते समय इन बातों का रखें ध्यान

हनुमान जी को लाल रंग पसंद है इसलिए इस दिन लाल रंग पहनना शुभ माना जाता है। इस दिन काले और सफेद रंगों के कपड़े पहनने से बचना चाहिए। पूजा करते समय आपका मन एकदम शुद्ध होना चाहिए और हनुमानजी की पूजा करते वक्त तन-मन को शुद्ध रखें। पूजा के दौरान मन को भटकने से रोकें और मन शांत रखकर पूजा करें और ऊॅं श्री हनुमंते नम:’ मंत्र का जाप करने पर विशेष फल मिलता है।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.