Suryadev Mantra: हर रविवार को करें इन मंत्रों का जाप, भगवान सूर्य देव की बनी रहेगी कृपा

भगवान सूर्य को साहस, रोशनी और ऊर्जा का प्रतीक माना गया है। रविवार के दिन भगवान सूर्य देव की पूजा-अर्चना करने से व्यक्ति को रोगों से मुक्ति मिलती है।
Suryadev Mantra
Suryadev Mantra

नई दिल्ली,रफ्तार डेस्क। रविवार का दिन सूर्य देव को समर्पित है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन यदि कोई व्यक्ति उगते हुए सूर्य को अर्घ्य देता है तो वह सूर्य के समान तेजवान हो जाता है, इसके साथ ही ऐसा करने से मनुष्य को अनेक लाभ प्राप्त होते हैं। भगवान सूर्य को साहस, रोशनी और ऊर्जा का प्रतीक माना गया है। रविवार के दिन भगवान सूर्य देव की पूजा-अर्चना करने से व्यक्ति को रोगों से मुक्ति मिलती है। ऐसा माना जाता है कि जिन लोगों की कुंडली में सूर्य की स्थिति अच्छी होती है वो सूरज के समान दमकते हैं। आइए जानते हैं रविवार के दिन सूर्य देव के किन मंत्रों का जाप करने से लाभ मिलता है।

भगवान सूर्य के मंत्र

ॐ हृां मित्राय नम:

इस मंत्र के जाप से आपको स्वास्थ्य लाभ मिलेगा। काम करने की क्षमता बढ़ाएं। देवता को अर्घ्य देते समय सूर्य देव के पहले मंत्र का नियमित रूप से जप करना चाहिए।

ॐ हृीं रवये नम:

यदि आप किसी स्वास्थ्य समस्या से पीड़ित हैं तो इस मंत्र का जाप करें। इससे शरीर में रक्त संचार दुरुस्त रहता है। सूर्य देव के सामने खड़े होकर इस मंत्र का जाप करना चाहिए।

ॐ हूं सूर्याय नम:

मन की शांति के लिए सूर्य देव के इस मंत्र का जाप करना चाहिए। इससे आपकी बुद्धि और एकाग्रता बढ़ती है।

ॐ हृ: पूषणे नम:

सूर्यदेव के इस मंत्र के जाप से जीवन में बल और धैर्य की वृद्धि होती है। इस मंत्र के जाप से धार्मिक कार्यों में मन लगता है।

ॐ आदित्याय नमः

इस मंत्र का जाप करने से दिमाग तेज होगा और आर्थिक समस्याओं का समाधान होगा। इस मंत्र के जाप से व्यक्ति समाज में मान-सम्मान भी प्राप्त करता है।

रविवार मंत्र का लाभ

रविवार के दिन इन मंत्रों के जाप से सूर्य देव को आसानी से प्रसन्न किया जा सकता है। रविवार के दिन सूर्य देव को जल चढ़ाने के बाद इन सूर्य देव मंत्रों का 108 बार जप करना चाहिए। इन सूर्य मंत्रों के जाप से मनुष्य की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

Related Stories

No stories found.