Sukrvar Mantra - माँ लक्ष्मी की पूजा -अर्चना की विधि ,मंत्र ! जानिये सब कुछ यहाँ

Lakshmi Maa :- कैसे करें पूजा , क्या करें या क्या न करें सब कुछ जानिये इस लेख में
Sukrvar Mantra - माँ लक्ष्मी की पूजा -अर्चना की विधि ,मंत्र ! जानिये सब कुछ यहाँ

नई दिल्ली - 11 अगस्त - रफ़्तार डेस्क !मां महालक्ष्मी की पूजा हिन्दू धर्म में विशेष महत्व रखती है, और विशेषकर शुक्रवार को उनके पूजन से धन और समृद्धि की प्राप्ति का आशीर्वाद प्राप्त किया जाता है। मां महालक्ष्मी की पूजा करते समय निम्नलिखित विधि और नियमों का पालन करना अत्यंत महत्वपूर्ण होता है।

पूजा सामग्री:

  • मां महालक्ष्मी की मूर्ति या चित्र

  • सफेद कपड़ा या चादर

  • गुड़, चावल, मिश्रित धान्य, मिश्रित मिठाईयाँ

  • सुगंधित धूप, दीपक, अगरबत्ती

  • गंध, कुमकुम, हल्दी, अभिषेक सामग्री

पूजा की विधि:

  1. पूजा का आयोजन शुभ मुहूर्त में करें, जैसे कि शुक्रवार के दिन शाम के समय या लक्ष्मी पूजा का विशेष मुहूर्त।

  2. पूजा स्थल को साफ-सुथरा और पवित्र बनाएं।

  3. मां महालक्ष्मी की मूर्ति या चित्र को पूजा स्थल पर स्थापित करें।

  4. उन्हें सफेद कपड़े से ढंकें और उनकी आराधना के लिए बैठें।

  5. अपने हाथों में गंध, कुमकुम और हल्दी लेकर मां की पूजा करें।

  6. मां महालक्ष्मी के चरणों में अभिषेक करें और उन्हें मिश्रित धान्य और फूलों से अर्पित करें।

  7. अगरबत्ती और दीपक जलाएं और पूजा के समय मन्त्रों का जाप करें।

मंत्र जाप :

मां महालक्ष्मी के मंत्रों का जाप करने से आप धन, समृद्धि और आर्थिक वृद्धि की प्राप्ति में सहायक हो सकते हैं। यहां कुछ प्रमुख मां महालक्ष्मी के मंत्र दिए गए हैं:

  1. "ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्मयै नमः॥"

  2. "ॐ श्रीं श्रिये नमः॥"

  3. "ॐ ह्रीं श्रीं लक्ष्मीभयो नमः॥"

  4. "ॐ श्रीं महालक्ष्म्यै नमः॥"

  5. "ॐ श्रीं श्रीनिवासाय नमः॥"

  6. "ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं त्रिभुवन महालक्ष्म्यै आस्मांक दारिद्र्य निवारणाय क्लीं ह्रीं श्रीं ॐ॥"

  7. "ॐ ह्रीं श्रीं क्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद ॐ ह्रीं श्रीं क्रीं श्रीं महालक्ष्मयै नमः॥"

आपको यह मंत्रों का जाप शुद्ध मानसिकता और उत्कृष्ट भावना के साथ करना चाहिए। आप मां महालक्ष्मी की कृपा प्राप्त करने के लिए रोज़ाना इन मंत्रों का जाप कर सकते हैं और शुक्रवार के दिन उनकी पूजा के साथ-साथ इन मंत्रों का जाप भी कर सकते हैं।

क्या करें:

  • पूजा के समय व्रती रहें और शुद्ध मानसिकता में रहें।

  • पूजा के बाद प्रसाद बांटें और उसे सभी को खिलाएं।

  • लक्ष्मी मंत्रों का जाप करें और धन प्राप्ति की प्रार्थना करें।

क्या न करें:

  • पूजा के समय अशुभ विचारों को मन में न लाएं।

  • किसी के सामने धूप और अगरबत्ती न जलाएं, क्योंकि यह अशुभ माना जाता है।

  • पूजा के समय अन्य कार्यों में व्यस्त रहने से बचें, ध्यान और शांति से पूजा करें।

मां महालक्ष्मी की पूजा करने से आपके जीवन में धन, समृद्धि, और सफलता की ऊर्जा आती है। शुक्रवार के दिन इन विधियों का पालन करके आप मां महालक्ष्मी की कृपा प्राप्त कर सकते हैं और अपने जीवन को सकारात्मकता से भर सकते हैं।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.