Somwar Mantra: महाशिवरात्रि पर भोलेनाथ के इन मंत्रों का करें जाप, बनी रहेंगी भगवान की कृपा

भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए शिवरात्रि के दिन रुद्राभिषेक के साथ इन मंत्रों का भी जाप करना चाहिए।
Mantra of Maaheshvari 2024
Mantra of Maaheshvari 2024www.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क। 4 मार्च 2024। महाशिवरात्रि भोलेनाथ को प्रसन्न करने का दिन है। इस दिन चारों ओर धर्म का पवित्र वातावरण बन जाता है। इस दिन का लाभ हम सभी को उठाना चाहिए। इस दिन जपे गए मंत्र असरकारी होते है, जो शिव जी को प्रसन्न करके उनका आशीर्वाद दिलाते हैं। इस दिन सच्चे मन से पूजा करने पर मनचाहा फल भी प्राप्त होता है।

इन मंत्रों का करें जाप

  • ॐ तत्पुरुषाय विदमहे, महादेवाय धीमहि तन्नो रुद्र: प्रचोदयात्।

  • नागेन्द्रहाराय त्रिलोचनायभस्माङ्गरागाय महेश्वराय ।नित्याय शुद्धाय दिगम्बरायतस्मै नकाराय नमः शिवाय।

  • ॐ त्र्यंम्बकम् यजामहे, सुगन्धिपुष्टिवर्धनम्। उर्वारुकमिव बन्धनान्, मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्।।'

  • ऐं ह्रीं श्रीं 'ॐ नम: शिवाय': श्रीं ह्रीं ऐं

  • ॐ ऐं ह्रीं शिव गौरीमय ह्रीं ऐं ऊं।

  • शिव गायत्री मंत्र- ॐ तत्पुरुषाय विद्महे, महादेवाय धीमहि, तन्नो रूद्र प्रचोदयात्।।

  • ॐ हौं जूं स:।

  • चंद्र बीज मंत्र- 'ॐ श्रां श्रीं श्रौं स: चंद्रमसे नम:', चंद्र मूल मंत्र 'ॐ चं चंद्रमसे नम:'।

  • 'ॐ ऐं नम: शिवाय।

  • 'ॐ ह्रीं नम: शिवाय।'

  • ॐ नमः पार्याय चावार्याय च नमः प्रतरणाय चोत्तरणाय च| नमस्तीर्थ्याय च कूल्याय च नमः शष्प्याय च फेन्याय च||

  • ॐ नमः कपर्दिने च व्युप्त केशाय च नमः सहस्त्राक्षाय च शतधन्वने च| नमो गिरिशयाय च शिपिविष्टाय च नमो मेढुष्टमाय चेषुमते च||

  • ॐ नमो ज्येष्ठाय च कनिष्ठाय च नमः पूर्वजाय चापरजाय च| नमो मध्यमाय चापगल्भाय च नमो जघन्याय च बुधन्याय च||

  • ॐ नमः आराधे चात्रिराय च नमः शीघ्रयाय च शीभ्याय च| नमः ऊर्म्याय चावस्वन्याय च नमो नादेयाय च द्वीप्याय च||

  • दर्शनं बिल्वपत्रस्य स्पर्शनं पापनाशनम्| अघोरपापसंहारं बिल्वपत्रं शिवार्पणम्||

  • ॐ ब्रह्म ज्ज्ञानप्रथमं पुरस्ताद्विसीमतः सुरुचो वेन आवः| स बुध्न्या उपमा अस्य विष्ठाः सतश्च योनिमसतश्च विवः||

  • ॐ वरुणस्योत्तम्भनमसि वरुणस्य सकम्भ सर्ज्जनीस्थो| वरुणस्य ऋतसदन्यसि वरुणस्य ऋतसदनमसि वरुणस्य ऋतसदनमासीद्||

  • ॐ अघोराय नम:ॐ शर्वाय नम:ॐ विरूपाक्षाय नम:ॐ विश्वरूपिणे नम:ॐ त्र्यम्बकाय नम:ॐ कपर्दिने नम:ॐ भैरवाय नम:ॐ शूलपाणये नम:ॐ ईशानाय नम:ॐ महेश्वराय नम:।

इस मंत्र में भगवान भोलेनाथ के 10 नाम का वर्णन किया गया है। इस मंत्र के जाप करने से भगवान प्रसन्न होते हैं और आपके घर में उनकी कृपा बनी रहती है। इन मंत्रों का जाप करते समय भगवान को बेलपत्र और धतुरा चढ़कर दूध या जल से अभिषेक करना चाहिए।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.