Mangalwar Mantra: कुंडली में अशुभ ग्रहों के दोष को दूर करने के लिए करें बजरंग बाण का पाठ

बजरंग बाण काफी शक्तिशाली पाठ होता है। इसे जपने से सभी परेशानियां दूर हो जाती हैं। वहीं विवाह में आ रहा संकट भी दूर हो जाता है।
Mantra of Hanuma ji
Mantra of Hanuma jiwww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार 20 February 2024: भगवान बजरंगबली को कलयुग का भगवान माना गया है। ऐसी मान्यताएं हैं कि कलयुग में सबसे ज्यादा बजरंगबली को माना जाता है। भगवान की मन से पूजा करने से सारे कष्टों का नाश होता है। वहीं भगवान के बजरंग बाण का जाप करने से डर, पीड़ा और दोष सब ठीक हो जाता है।

बजरंग बाण का महत्व

बजरंग बाण अत्यधिक महत्वपूर्ण और शक्तिशाली पाठ है। कहते हैं कि अगर आप किसी भी काम में बार-बार प्रयास करने के बाद असफल हो रहे हो। हर जगह से निराशा ही मिल रही है। तब आप इस पाठ का अवश्य जाप करें। इस पाठ के करने से हनुमान जी की विशेष कृपा मिलती है और जल्द परिणाम दिखने लगते हैं। अपनी प्रार्थनाओं का जल्दी असर देखने के लिए आपको यह बजरंग बाण का पाठ शनिवार और मंगलवार दोनों दिन करना चाहिए।

चमेली के तेल से करें बजरंगबली को प्रसन्न

बजरंग बाण के पाठ करते समय भगवान को चमेली का तेल चढ़ाने का भी नियम है। वहीं मंगलवार को हनुमान जी पर चमेली का तेल चढ़ाने से भगवान जल्दी प्रसन्न होते हैं। भगवान हनुमान जी को का पाठ करने से पहले चमेली का दिया भी जालना काफी शुभ माना जाता है। ऐसा करने से आपके ऊपर भूत प्रेत का साया नहीं रहता। और घर में सुख शांति बनी रहती है।

बजरंग बाण का पाठ चौपाई

ॐ चं चं चं चं चपल चलंता। ॐ हनु हनु हनु हनु हनुमंता॥

ॐ हं हं हाँक देत कपि चंचल। ॐ सं सं सहमि पराने खल-दल॥

अपने जन को तुरत उबारौ। सुमिरत होय आनंद हमारौ॥

यह बजरंग-बाण जेहि मारै। ताहि कहौ फिरि कवन उबारै॥

पाठ करै बजरंग-बाण की। हनुमत रक्षा करै प्रान की॥

यह बजरंग बाण जो जापैं। तासों भूत-प्रेत सब कापैं॥

धूप देय जो जपै हमेसा। ताके तन नहिं रहै कलेसा॥

दोहा

उर प्रतीति दृढ़, सरन ह्वै, पाठ करै धरि ध्यान।

बाधा सब हर, करैं सब काम सफल हनुमान॥

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.