Mata Parvati Mantra: महाशिवरात्रि से पहले करें पार्वती माता के इन मंत्रों का जाप, पति की उम्र होगी लंबी

पार्वती माता की पूजा करने से घर में सुख शांति बनी रहती है, साथ ही कुछ मंत्रों के जाप से पति की लंबी उम्र होती है।
Mantra of Parvati Mata
Mantra of Parvati Matawww.raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। 7 मार्च 2024। महाशिवरात्रि का शुभ पर्व बस आने ही वाला है। 8 मार्च को महाशिवरात्रि का त्यौहार मनाया जाएगा लेकिन शिवरात्रि के पहले भी आप माता पार्वती की पूजा करके उनको प्रसन्न कर सकते हैं और उनके कुछ मंत्रों के जाप से अपने पति की उम्र को लंबी बना सकते हैं।

माता पार्वती की पूजा का महत्व

माता पार्वती के लिए भक्तों द्वारा की गई उपासना का काफी महत्व होता है। ऐसा करने से माता अति प्रसन्न होती हैं। खासकर जो अविवाहित महिलाएं और कन्याएं माता पार्वती की पूजा और व्रत करती हैं, वे उनकी सभी इच्छा पूरी करती हैं। भागवत पुराण में माता पार्वती के बारे में बताया गया है, कि उन्हें दुर्गा काली का रूप माना जाता है। हिंदू धर्म में महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र और सौभाग्य के लिए तीज का व्रत भी रखती है।

इन मंत्रो का जाप

“ॐ ह्लीं वाग्वादिनी भगवती मम कार्य सिद्धि कुरु कुरु फट् स्वाहा” इस मंत्र के जाप से माता रानी का आशीर्वाद मिलता है और आपके पति की लंबी उम्र होती है। साथ ही उनका स्वास्थ्य भी अच्छा होता है। अगर आपके पति का स्वास्थ्य ठीक नहीं चल रहा है, तब आपको इस मंत्र का जाप जरुर करना चाहिए।

“नमो देव्यै महादेव्यै शिवायै सततं नमः।नमः प्रकृत्यै भद्रायै नियताः प्रणताः स्मताम्।” इस मंत्र के जाप से घर में सुख शांति बनी रहती है। इस मंत्र का जाप भगवान भोलेनाथ और माता पार्वती का आशीर्वाद पाने के लिए किया जाता है।

“या देवी सर्वभूतेषु शक्तिरूपेण संस्थिता।नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।” इस मंत्र के जाप से न केवल आपके पति की उम्र लंबी होती है बल्की आपके पूरे घर परिवार में चल रही लड़ाई खत्म हो जाती है और सबके मन में प्रेम और इसने उत्पन्न होता है।

“ॐ गौरी देव्यै च विद्महे, कामराजाय धीमहि। तन्नो दुर्गा प्रचोदयात्।” इस मंत्र के जाप से माता जल्दी प्रसन्न होती है क्योंकि यह उनका खास मंत्र है। इसका जाप करने से माता की कृपा, प्रेम और आशीर्वाद मिलता है।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.