Rang Panchami Mantra: रंग पंचमी पर इन मंत्रों का करें जाप, घर में बनी रहेगी धन समृद्धि

रंग पंचमी का पर्व होली के पांचवें दिन मनाया जाता है। इस दिन कुछ मंत्रों के जाप से आप अपनी किस्मत चमका सकते हैं।
Mantra of Rang Panchami 2024
Mantra of Rang Panchami 2024www.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क।30 March 2024। रंग पंचमी का त्योहार होली के पांचवें दिन मनाया जाता है। इस दिन राधा कृष्ण की पूजा की जाती है। इसके अलावा आज के दिन माता लक्ष्मी के कुछ मंत्रों के जाप करने से आपका भाग्य उदय होता है। और घर में आर्थिक तंगी और चल रहा क्लेश दूर होता है।

रंग पंचमी के दिन किन देवी देवताओं की होती है पूजा

रंग पंचमी के दिन राधा कृष्ण की पूजा की जाती है। मान्यता है कि इस दिन राधा कृष्ण की पूजा कर उन्हें लाल रंग का अबीर-गुलाल अर्पित करना चाहिए। साथ ही अन्य देवताओं को भी गुलाल अर्पित करना चाहिए। इस दिन भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की भी पूजा की जाती है। इस दिन माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए माता लक्ष्मी के कई चमत्कारी मंत्रों का जाप किया जाता है।

लक्ष्मी माता को प्रसन्न करने के लिए

  • लक्ष्मी नारायण नम:

  • ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्री सिद्ध लक्ष्म्यै नम:

  • श्रीं ह्रीं क्लीं ऐं कमलवासिन्यै स्वाहा।

  • ऊँ श्रीं ल्कीं महालक्ष्मी महालक्ष्मी एह्येहि सर्व सौभाग्यं देहि मे स्वाहा।।

  • ऊँ ह्रीं श्री क्रीं क्लीं श्री लक्ष्मी मम गृहे धन पूरये, धन पूरये, चिंताएं दूरये-दूरये स्वाहा:।

  • ऊँ श्रींह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ऊँ महालक्ष्मी नम:।

रंग पंचमी के दिन करें यह उपाय

  • रंग पंचमी के तीन विष्णु भगवान और माता लक्ष्मी की पूजा अर्चना करते हुए“ॐ श्रीं श्रीये नमः” इस मंत्र का जाप करें। ऐसा करने से घर में सुख शांति बनी रहेगी।

  • रंग पंचमी के दिन भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी को गुलाब या कमल का फूल अर्पित करना चाहिए और उनका ध्यान करना चाहिए। ऐसा करने से आपकी सभी परेशानियां दूर होती है और घर का माहौल अच्छा बना रहता है।

  • रंग पंचमी के दिन माता लक्ष्मी को सफेद चीज जैसे खीर, मिश्री, श्रीखंड आदि का भोग लगाना चाहिए। ऐसा करने से आपका रुका हुआ धन मिल जाता है और बिजनेस में मुनाफा होता है।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.