Mangalwar Mantra: मंगलवार के दिन करें हनुमान जी के इन मंत्रों का जाप कर्जे से मिलेगी मुक्ति

मंगलवार का दिन हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए बेहद खास होता है। इस दिन उनके चमत्कारी मंत्रों का जाप कर के प्रसन्न कर सकते हैं।
Mantra of hanuman ji
Mantra of hanuman jiwww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क। 27 February 2024। भगवान हनुमान जी की पूजा व्यक्ति को हर दिन करनी चाहिए। लेकिन मंगलवार के दिन इनकी पूजा का ज्यादा असर पड़ता है। इसीलिए मंगलवार के दिन पूजा के साथ-साथ इनका व्रत भी रखना चाहिए। ऐसा करने से भगवान की कृपा आप पर बनी रहती है। और घर में सुख शांति रहती है। वहीं कुछ मंत्रों के जाप करने से आपकी आर्थिक तंगी भी समाप्त हो जाती है।

पूजा विधि

आपको मंगलवार के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करना चहिए। अगर आप व्रत कर रहे है तो हनुमान जी का स्मरण करते हुए व्रत का संकल्प लें। भगवान को लाल रंग प्रिय है इसलिए इस दिन लाल रंग के वस्त्र धारण करें। इसके बाद ईशान कोण यानी उत्तर-पूर्व कोने को साफ करके एक चौकी में भगवान हनुमान के साथ-साथ भगवान राम और सीता जी की भी मूर्ति या तस्वीर स्थापित करें।इसके बाद उन्हें फल फूल माला चढ़कर दीपक जलाएं और उनकी आरती करें। आपको सुंदरकांड और हनुमान चालीसा का भी पाठ करना चाहिए ऐसा करने से भगवान अत्यंत प्रसन्न होते है। हनुमान जी को गुड़-चना, बूंदी आदि का भोग लगाएं।

इन मंत्रों का करें जाप

ऊँ नमो हनुमते रुद्रावताराय अक्षिशूलपक्षशूल शिरोऽभ्यन्तर

शूलपित्तशूलब्रह्मराक्षसशूलपिशाचकुलच्छेदनं निवारय निवारय स्वाहा।

ॐ नमो हनुमते आवेशाय आवेशाय स्वाहा।

ॐ नमो हनुमते रुद्रावताराय सर्वशत्रुसंहारणाय सर्वरोग हराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा।

आदिदेव नमस्तुभ्यं सप्तसप्ते दिवाकर।त्वं रवे तारय स्वास्मानस्मात्संसार सागरात।।

महाबलाय वीराय चिरंजिवीन उद्दते।हारिणे वज्र देहाय चोलंग्घितमहाव्यये।।

ॐ हं हनुमंते नम:

ॐ हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट।

ॐ पूर्वकपिमुखाय पच्चमुख हनुमते टं टं टं टं टं सकल शत्रु सहंरणाय स्वाहा।

इस मंत्रों का प्रति मंगलवार जाप करने से व्यापार एवं नौकरी में आपकी तरक्की होगी।और अगर आप के कुंडली में भी कोई दोष होगा तो वह सम्मत हो जाएंगा।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.