Vastu Tips: घर के आंगन और बालकनी में इन दिशाओं में लगाएं पौधे, दूर होगा वास्तु दोष

अक्सर हम अपने घर आंगन में कई तरह के रंग-बिरंगे पौधे लगाते हैं। लेकिन वास्तु शास्त्र के अनुसार गलत दिशा में लगाए गए पौधे आपके घर में नकारात्मकता को लाते है।
Vastu Tips
Vastu TipsRaftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क।2April 2024। घर में पेड़ पौधे के होने से हरियाली बनी रहती है। लेकिन इन्हें लगाते हुए वास्तु शास्त्र की दिशाओं का ध्यान रखना अनिवार्य है। सही दिशा में पेड़ पौधे लगाने से घर में वास्तु दोष से छुटकारा मिलता है। घर में सुख शांति और सकारात्मक आती है।

वास्तु के अनुसार पर पेड़ पौधे लगाने कलकी सही दिशा

दक्षिण पूर्व दिशा

दक्षिण पूर्व दिशा में लाल फूल देने वाले पौधे लगाना चाहिए जैसे गुलाब गुड़हल आदि। इस दिशा में इनको लगाने से समाज में आपका मान सम्मान बढ़ता है और आप के परिवार में शनि बनी रहती है।

उत्तर या पश्चिम दिशा

अगर आप अपने जीवन में तरक्की चाहते हैं तो आपको मोगरा और चमेली का फूल उत्तर या पश्चिम दिशा में लगाना चाहिए। ऐसा करने से आपके घर में सुख शांति बनी रहती है और तरक्की के भाग खुल जाते है। अगर आप पीपल का पेड़ लगाना चाहते हैं, तो इसके लिए दक्षिण दिशा काफी शुभ मानी जाती है।

उत्तर पश्चिम दिशा

घर से नकारात्मकता को दूर करने के लिए आपको बेल का पेड़ लगाना चाहिए। बेल का पेड़ आप उत्तर पश्चिम दिशा में लगा सकते हैं। इसे लगाने से आपके घर में सकारात्मक आती है और व्यापार में बढ़ोतरी होती है।

उत्तर दिशा

करियर में सफलता पाने के लिए आपको उत्तर दिशा में नीला फूल लगाना चाहिए। उत्तर दिशा में ये पौधे होने से घर में सकारात्मक बनी रहती है और आपकी करियर में चार चांद भी लगता है।

पूर्व या उत्तर पूर्व दिशा

ऐसी मान्यताएं हैं कि पौधों में मां लक्ष्मी का वास होता है। जिसे लगाने से आपके घर में सुख समृद्धि आती है। जिसमें केला, शमी वाला, मनी प्लांट, तुलसी, हल्दी धनिया और पुदीना आदि शामिल हैं। इन सभी पौधों को पूर्व या उत्तर पूर्व दिशा में लगाना चाहिए।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.