Vastu Tips : पति की उम्र बढ़ाने वाला सिंदूर क्या बन सकता है आपके घर में अशांति का कारण ?

हर महिला सिंदूर को अपना सिंगर मानती है सिंदूर पति की उम्र बढ़ाने के साथ-साथ महिलाओं की खूबसूरती में चार चांद भी लगता है।
 Vastu Shastra Of Vermilion
Vastu Shastra Of Vermilionwww.raftaar.in

नई दिल्ली,रफ्तार डेस्क 20 December 2023 : हिंदू धर्म में सिंदूर का बहुत महत्व है महिलाओं की शादी के दिन उनके पति उनके मांग में सिंदूर भरते हैं। इसके बाद से हर दिन महिलाएं अपने मांग में सिंदूर लगाती हैं ऐसा कहते हैं कि सिंदूर लगाने से पति की लंबी उम्र होती क्योंकि सिंदूर को काफी पवित्र माना जाता है। लेकिन वास्तु शास्त्र में सिंदूर को लगाने से लेकर सिंदूर के ऐसे कई नियम बताएं हैं जिनका अगर आप सही से पालन नहीं करती है तो सिंदूर लगाने के कारण आपके घर में दरिद्रता और अशांति का माहौल बना रहता है। तो आईए जानते हैं सिंदूर से जुड़ी कुछ खास बातें।

सिंदूर लगाने की सही दिशा

सिंदूर किसी भी कारण महिलाओं को दक्षिण दिशा की तरफ मुंह करके नहीं लगना चाहिए। ऐसा करने से उनके जीवन पर बुरा असर पड़ता है और उनका वैवाहिक जीवन में भी कई समस्याएं उत्पन्न होती हैं। महिलाओं को कभी भी आधा तिरछा सिंदूर नहीं लगना चाहिए यह आपके घर परिवार को मुसीबत से भर देता है। नया समय को देखते हुए महिलाएं सिंदूर लगाने के बाद बालों से ढक देती है। ऐसा करने से मान प्रतिष्ठा की हानि होती है।वहीं सिंदूर लगाते समय महिलाओं को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि उनके सिर पर चुन्नी या साड़ी का पल्ला हो। खुली मांग मैं सिंदूर लगाने से माता लक्ष्मी रुष्ट हो जाती हैं।

सिंदूर को लेकर इन बातों का रखें ध्यान

सिंदूर पति को किसी भी दुर्घटना और किसी भी तरह के अशुभ प्रभावों से बचाने वाला होता है।ऐसे में महिला जब अपनी मांग खुद से भरती हैं तो उन्हें कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

  • धार्मिक मान्यता के अनुसार महिलाओं को मांग के बीचों-बीच सिंदूर लगाना चाहिए।

  • किसी दूसरी महिला के सिंदूर से भूलकर भी अपनी मांग न भरें। इससे पति को आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

  • अपना सिंदूर किसी अन्य सुहागिन महिला को मांग भरने के लिए नहीं देना चाहिए। ऐसा करना अशुभ होता है।

  • शादीशुदा महिलाओं को सिंदूर हमेशा अपने या पति के पैसों से ही खरीदें। कभी भी किसी अन्य व्यक्ति के पैसों से सिंदूर नहीं खरीदें।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.