Vastu Tips: इस तरह के कपड़ों का आर्थिक स्थिति पर पड़ता है प्रभाव, जानिए क्या कहता है वास्तु शास्त्र

कपड़े व्यक्ति की सुंदरता को और बढ़ाने के साथ-साथ उनके जीवन में कई लाभकारी कार्य भी करते हैं। वास्तु के हिसाब से कपड़ों का भी एक अलग नियम होता है।
Vastu Tips of clothes
Vastu Tips of clotheswww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क 20 January 2024: वास्तु शास्त्र का हमारे जीवन में काफी गहरा प्रभाव पड़ता है। वास्तु का दोस्त केवल घर की चीजों पर ही नहीं बल्कि हमारे कपड़ों पर भी होता है। इसीलिए वास्तु के हिसाब से कपड़ों का भी एक अलग नियम बताया गया है। किस कलर के कपड़े कब पहनते हैं और किन कपड़ों से क्या लाभ मिलता है। तो आईए जानते हैं यह सारी जानकारी।

कपड़ों के नुकसान और फायदे

आज के समय में कपड़े पहनकर आप फैशन के दौर में खुद को आगे रख सकते हैं लेकिन वास्तु के अनुसार, ऐसे कपड़े आपके गुड लक को बैड लक में बदल सकते हैं। न सिर्फ बाहर बल्कि घर पर भी फटे और ज्यादा पुराने कपड़े नहीं पहनने चाहिए। वहीं अगर आप एक ही कपड़ा बार-बार पहनते हैं।, तो यह आपकी स्वास्थ्य के लिए भी काफी हानिकारक होता है। और अगर यह कपड़े गंदे हो तब बिना धूल पहनने से जीवन में आर्थिक परेशानी बनी रहती हैं।

शनिवार के दिन कभी भी नए कपड़े न पहनने चाहिए। नए कपड़े को केवल बुधवार, बृहस्पतिवार और शुक्रवार के दिन ही पहनना चाहिए। रात्रि के समय नए कपड़ों को बाहर नहीं छोड़ना चाहिए इनमें नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश कर सकती है।

अगर आप नया कपड़ा खरीदने की सोच रहे हैं तो कपड़े खरीदने का सबसे अच्छा शुभ दिन सोमवार और शुक्रवार होता है। जबकि मंगलवार और शनिवार को कपड़ा बिल्कुल भी नहींखरीदना चाहिए।

अगर आपके जीवन में काम में बाधा आ रही है या फिर घर में नकारात्मक ऊर्जा का वास है। तब आपको अधिकतर सफेद कपड़ा का चयन करना चाहिए। क्योंकि सफेद कपड़ा सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक होता है। और वही धन की प्राप्ति के लिए आपको पीले रंग का कपड़ा पहनना चाहिए। वहीं गुलाबी नंगी और हल्के कलर के कपड़े पहनने से विवाह के जल्दी योग बनते हैं।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.