Vastu Tips for Silver Ring: इस उंगली में धारण करें चांदी की अंगूठी, सेहत के साथ-साथ बढे़गी खूबसूरती

चांदी को हिंदू धर्म में बेहद शुभ धातु माना जाता है। वास्तु शास्त्र में चांदी की अंगूठी धारण करने के विशेष लाभ बताए गए हैं।
Silver Ring
Silver Ring

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। Vastu Tips for Silver Ring: महिलाओं को सोने, चांदी के गहने बेहद ही पंसद होते हैं। चांदी के गहने जैसे पायल, अंगूठियां और बिछुआ महिलाओं की सुंदरता को में चार चांद लगा देता है। चांदी को हिंदू धर्म में बेहद शुभ धातु माना जाता है। वास्तु शास्त्र में चांदी की अंगूठी धारण करने के विशेष लाभ बताए गए हैं। चांदी की अंगूठी पहनने का रिवाज बहुत पहले से चला आ रहा है। इसे सही उंगली में धारण करने से विशेष लाभ मिलता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार चांदी की अंगूठी और आभूषण धारण करने से नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है।

अंगूठी किस उंगली में करें धारण

चांदी की अंगूठी हमेशा दाहिने हाथ की कनिष्ठा अंगुली में धारण करनी चाहिए। ऐसे में चांदी की अंगूठी अगर विधि-विधान से पहनी जाए तो शुक्र और चंद्रमा का फल अनुकूल रहेगा। मस्तिष्क को शांति मिलती है, जो क्रोध करने वाले व्यक्ति के क्रोध को कम कर उसे नियंत्रण में लाता है।

चांदी का शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता है?

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार चांदी शुक्र और चंद्रमा से जुड़ी धातु है जो धन और समृद्धि को बढ़ाती है। चांदी के आभूषण धारण कर जल तत्व को नियंत्रित होता है। चांदी धारण करने से शरीर पर अच्छा असर पड़ता है। इसके साथ ही धन का भी लाभ होता है।

चांदी की अंगूठी के क्या फायदे हैं?

अगर आप भी मान सम्मान बढ़ाना चाहते हैं तो इसके लिए चांदी की अंगूठी या छल्ला धारण करें। इससे विशेष लाभ होता है। शुक्र और चंद्रमा के अच्छे प्रभाव से व्यक्ति की सुंदरता और भी बढ़ जाती है। चेहरे पर रौनक आती है और चेहरे के दाग-धब्बे दूर हो जाते हैं।

Related Stories

No stories found.